तैयार हो जाइए, अब हर दिन चुकाने पड़ेंगे पेट्रोल और डीजल के अलग-अलग दाम...

सार्वजनिक क्षेत्र की तेल कंपनियों ने पांच शहरों में इस तरह का प्रयोग सफल रहने के बाद यह फैसला किया है.

तैयार हो जाइए, अब हर दिन चुकाने पड़ेंगे पेट्रोल और डीजल के अलग-अलग दाम...

पेट्रोल-डीजल के दाम दैनिक आधार पर कच्चे तेल की अंतरराष्ट्रीय कीमतों के अनुरूप तय होंगे. (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर)

खास बातें

  • देशभर मेें 58,000 पेट्रोल पंपों पर दाम दैनिक आधार पर तय होंगे.
  • पायलट प्रोजेक्ट में मिली सफलता के बाद तेल कंपनियों ने लिया फैसला.
  • अखबारों में हर रोज़ उस दिन की तेल की कीमतों को प्रमुखता से छपवाया जाएगा.
नई दिल्‍ली:

एक अहम फैसले में पब्लिक सेक्टर ऑयल मार्केटिंग कंपनियों ने 16 जून से, यानी अगले ही हफ्ते से पूरे देश में पेट्रोल और डीजल की कीमतों में हर रोज़ बदलाव करने का फैसला किया है. 

देश की तीन बड़ी पब्लिक सेक्टर ऑयल मार्केटिंग कंपनियों- इंडियन ऑयल, हिन्दुस्तान पेट्रोलियम और भारत पेट्रोलियम ने गुरुवार को इसका ऐलान किया. कंपनियों ने कहा है कि देशभर में 58,000 पेट्रोल पंपों पर 16 जून से पेट्रोल व डीजल के दाम दैनिक आधार पर तय होंगे.

इसके अनुसार अंतरराष्ट्रीय बाजार में तेल कीमतों में घट-बढ़ तथा विदेशी विनियम दर में उतार-चढ़ाव के आधार पर पेट्रोल व डीजल के दाम में 16 जून से दैनिक आधार पर कुछ पैसे का बदलाव होगा.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

इन कंपनियों की तरफ से जारी प्रेस नोट में कहा गया है, "उदयपुर, जमशेदपुर, पुडूचेरी, चंडीगढ़ और विशाखापट्टनम में 1 मई से पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर पेट्रोल और डीजल की रीटेल कीमतों में हर रोज़ बदलाव किया जा रहा था. पायलट प्रोजेक्ट में मिली सफलता के बाद पब्लिक सेक्टर ऑयल मार्केटिंग कंपनियों ने 16 जून, 2017 से इस नई व्यवस्था को पूरे देश में लागू करने का फैसला किया है. हर रोज़ पेट्रोल और डीज़ल की कीमतों में बदलाव से इनकी रिटेल कीमतें मार्केट की स्थिति के हिसाब से तय की जा सकेंगी. इससे व्यवस्था में पारदर्शिता भी बहाल होगी. कई विकसित देशों में ये व्यवस्था पहले से बहाल की चुकी है.' 

इस फैसले के साथ ही पब्लिक सेक्टर ऑयल मार्केटिंग कंपनियों ने तेल के उपभोक्ताओं तक तेल पदार्थों की कीमतों में फेर-बदल के बारे में सही जानकारी पहुंचाने के लिए विशेष तैयारियां शुरू कर दी है. इनमें अखबारों में हर रोज़ उस दिन को तेल की कीमतों को प्रमुखता से छपवाना भी शामिल है.