राम मंदिर पर पाक की टिप्पणी पर बोला भारत- आतंक को शह देने वाले देश से कोई उम्मीद भी नहीं

अयोध्या में राम मंदिर भूमि पूजन पर पाकिस्तान की प्रतिक्रिया पर भारत ने सिरे से खारिज कर दिया है. भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा कि 'पाकिस्तान को भारत के मामलों में दखल देने और सांप्रदायिकता को शह देने से बचना चाहिए'.

राम मंदिर पर पाक की टिप्पणी पर बोला भारत- आतंक को शह देने वाले देश से कोई उम्मीद भी नहीं

पाकिस्तान की राम मंदिर भूमि पूजन पर आई टिप्पणी पर भारत ने दिया जवाब.

नई दिल्ली:

अयोध्या में राम मंदिर भूमि पूजन पर पाकिस्तान की प्रतिक्रिया पर भारत ने सिरे से खारिज कर दिया है. भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा कि 'पाकिस्तान को भारत के मामलों में दखल देने और सांप्रदायिकता को शह देने से बचना चाहिए'. दरअसल, राम मंदिर भूमि पूजन और शिलान्यास होने पर पाकिस्तान ने बुधवार को इसकी आलोचना की थी. इसपर भारत ने कहा कि इस तरह की टिप्पणियां बेहद अफसोसजनक है.

भारत ने पाकिस्तान की टिप्पणी पर कहा कि 'सीमा-पार आतंकवाद में संलिप्त एक देश का यह रुख आश्चर्यजनक नहीं है.' विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने पाकिस्तान को भारत के मामलों में हस्तक्षेप करने से दूर रहने को भी कहा. 
श्रीवास्तव ने कहा, ‘हमने भारत के आंतरिक मामले पर इस्लामिक गणराज्य पाकिस्तान के प्रेस बयान को देखा है. उसे (पाकिस्तान) भारत के मामलों में हस्तक्षेप करने से दूर रहना चाहिए और साम्प्रदायिक भावना भड़काने से बचना चाहिए.' उन्होंने आगे कहा, ‘यह एक ऐसे देश के संबंध में आश्चर्यजनक नहीं है जो सीमापार आतंकवाद का अनुपालन करता है और अपने ही अल्पसंख्यकों को धार्मिक अधिकारों से वंचित करता है.'

यह भी पढ़ें: 'जय श्री राम' से 'जय सिया राम': PM मोदी का नया नारा, बीजेपी की नई रणनीति?

उन्होंने कहा कि ऐसी टिप्पणी निंदनीय है. बता दें कि पाकिस्तान ने बुधवार को राम मंदिर के भूमिपूजन और शिलान्यास की आलोचना की थी. पाकिस्तान के विदेश कार्यालय ने बुधवार को एक बयान में कहा था, ‘भारतीय सुप्रीम कोर्ट के गलत फैसले ने मंदिर निर्माण का मार्ग प्रशस्त किया, जो न केवल ये दिखाता है कि वहां न्याय पर आस्था बड़ी है, बल्कि यह भारत में बढ़ते बहुसंख्यवाद को भी दिखाता है जहां अल्पसंख्यकों, विशेष रूप से मुसलमानों और उनके पूजा स्थलों पर हमले बढ़ रहे हैं.'

पाकिस्तानी विदेश कार्यालय ने कहा कि कोरोनावायरस संक्रमण के दौरान बाबरी मस्जिद स्थल पर मंदिर के निर्माण में जल्दबाजी यह दिखाती है कि किस प्रकार से भारत में मुसलमानों को हाशिए पर धकेला जा रहा है. भारत पहले ही इस मुद्दे पर पाकिस्तान की ‘अवांछित और अकारथ टिप्पणियों' को खारिज कर चुका है. विदेश मंत्रालय ने कहा था, ‘भारत के सुप्रीम कोर्ट का फैसला भारत का पूरी तरह से अंदरूनी मामला है.'

Video: अयोध्या में बनने जा रहे राम मंदिर का भूमि पूजन संपन्न

Newsbeep

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com




(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)