इमरान खान ने दी मदद की पेशकश तो भारत की दो-टूक- 'हमारा कोविड पैकेज आपके GDP के बराबर है'

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने भारत को कोरोनावायरस महामारी के दौरान कैश ट्रांसफर टेक्नोलॉजी के जरिए गरीबों की मदद की पेशकश की थी, जिसपर भारत का जवाब आया है.

इमरान खान ने दी मदद की पेशकश तो भारत की दो-टूक- 'हमारा कोविड पैकेज आपके GDP के बराबर है'

इमरान खान के अपने कैश ट्रांसफर प्रोग्राम की तारीफ करने पर भारत का जवाब.

खास बातें

  • इमरान खान ने भारत में गरीबों की मदद का दिया था ऑफर
  • अपने कैश ट्रांसफर प्रोग्राम की की थी तारीफ
  • भारत ने दिया दो-टूक जवाब
नई दिल्ली:

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने भारत को कोरोनावायरस महामारी के दौरान कैश ट्रांसफर टेक्नोलॉजी के जरिए गरीबों की मदद की पेशकश की थी. इस पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए भारत ने गुरुवार को पड़ोसी देश को याद दिलाया कि महामारी के दौरान भारत सरकार की ओर से दिए गए आर्थिक राहत पैकेज का आकार पाकिस्तान के जीडीपी (सकल घरेलू उत्पाद) के बराबर है.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने एक ऑनलाइन मीडिया ब्रीफिंग में कहा, ‘पाकिस्तान अपने देश के लोगों को कैश देने की बजाए देश से बाहर बैंक खातों में कैश ट्रांसफर करने के लिए जाना जाता है. इमरान खान के सलाहकारों को और बेहतर जानकारी रखने की जरूरत है.'

उन्होंने कहा, ‘हम सभी को पाकिस्तान के कर्ज की समस्या (जीडीपी के 90 प्रतिशत) के बारे में पता है और कर्ज के पुनर्गठन को लेकर वे कितने दबाव में हैं. अच्छा होगा कि वे याद रखें कि हमारा आर्थिक प्रोत्साहन पैकेज पाकिस्तान के जीडीपी के बराबर है.'

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले महीने कोविड-19 महामारी के प्रतिकूल प्रभाव से महत्वपूर्ण क्षेत्रों को निपटने में मदद देने के लिे 20 लाख करोड़ रुपए के आर्थिक प्रोत्साहन पैकेज की घोषणा की थी .

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

बता दें कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने एक खबर के साथ अपने ट्वीट में कहा था कि हम भारत में गरीबों की मदद करने के लिए तैयार हैं. हमारे कैश ट्रांसफर प्रोग्राम की दुनियाभर में तारीफ हुई है.

वीडियो: पाकिस्तान, बांग्लादेश और श्रीलंका से तुलना क्यों करें?



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)