भारत ने ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का किया सफल प्रायोगिक परीक्षण

भारत ने ओडिशा स्थित एक प्रक्षेपण स्थल से ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का बुधवार को सफल प्रायोगिक परीक्षण किया. इस मिसाइल की मारक क्षमता 400 किलोमीटर से ज्यादा है.

भारत ने ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का किया सफल प्रायोगिक परीक्षण

ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का सफल प्रायोगिक परीक्षण

बालासोर (ओडिशा):

भारत ने ओडिशा स्थित एक प्रक्षेपण स्थल से ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का बुधवार को सफल प्रायोगिक परीक्षण किया. इस मिसाइल की मारक क्षमता 400 किलोमीटर से ज्यादा है. रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) के सूत्रों ने बताया कि यहां पास में चांदीपुर स्थित एकीकृत परीक्षण केंद्र (आईटीआर) से अत्याधुनिक मिसाइल का प्रक्षेपण किया गया जो सफल रहा.

भारत-भूटान के साथ अपनी सीमा के संबंध में 'बलप्रयोग की रणनीति' अपना रहा है चीन : अमेरिका

डीआरडीओ के एक अधिकारी ने बताया कि परीक्षण के दौरान सभी मानक प्राप्त कर लिए गए. प्रयोगिक परीक्षण पूर्वाह्न 10 बजकर 45 मिनट पर किया गया. उन्होंने कहा कि मिसाइल को समुद्र, जमीन और लड़ाकू विमानों से भी दागा जा सकता है.

मिसाइल के पहले विस्तारित संस्करण का सफल परीक्षण 11 मार्च 2017 को किया गया था, जिसकी मारक क्षमता 450 किलोमीटर थी. तीस सितंबर 2019 को चांदीपुर स्थित आईटीआर से कम दूरी की मारक क्षमता वाली ब्रह्मोस मिसाइल के जमीनी संस्करण का सफल परीक्षण किया गया था.

Newsbeep

सीमा पर चीन की गतिविधियों पर संसद में हो चर्चा: कांग्रेस

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


डीआरडीओ और रूस के प्रमुख एरोस्पेस उपक्रम एनपीओएम द्वारा संयुक्त रूप से विकसित ब्राह्मोस मिसाइल " मध्यम रेंज की रेमजेट सुपरसोनिक क्रूज" मिसाइल है, जिसे पनडुब्बियों, युद्धपोतों, लड़ाकू विमानों तथा जमीन से दागा जा सकता है. सूत्रों ने बताया कि यह मिसाइल पहले से ही भारतीय थलसेना, नौसेना और वायुसेना के पास है. इसे दुनिया की सबसे तेज सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल माना जाता है.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)