प्राइवेट सेक्‍टर भी अब कर सकेंगे रॉकेट निर्माण, Inter-Planetary Mission का बन सकेंगे हिस्‍सा: ISRO प्रमुख

उन्होंने कहा कि निजी क्षेत्र भी भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन के अंतर-ग्रहीय मिशनों का हिस्सा हो सकता है. गौरतलब है कि केंद्रीय मंत्रिमंडल ने बुधवार को ग्रहों की खोज मिशन सहित अंतरिक्ष गतिविधियों की श्रृंखला में निजी क्षेत्र की भागीदारी को मंजूरी प्रदान की है.

प्राइवेट सेक्‍टर भी अब कर सकेंगे रॉकेट निर्माण, Inter-Planetary Mission का बन सकेंगे हिस्‍सा: ISRO प्रमुख

इंडियन स्‍पेस रिसर्च आर्गेनाइ‍जेशन (ISRO) के प्रमुख के. सिवन

नई दिल्ली:

इंडियन स्‍पेस रिसर्च आर्गेनाइ‍जेशन (ISRO) के प्रमुख के. सिवन ने कहा कि प्राइवेट सेक्‍टर को अब रॉकेट, उपग्रहों के निर्माण और प्रक्षेपण सेवाएं प्रदान करने जैसी अंतरिक्ष गतिविधियों को करने की अनुमति दी जाएगी. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि निजी क्षेत्र भी भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन के अंतर-ग्रहीय मिशनों का हिस्सा हो सकता है.

गौरतलब है कि केंद्रीय मंत्रिमंडल ने बुधवार को ग्रहों की खोज मिशन सहित अंतरिक्ष गतिविधियों की श्रृंखला में निजी क्षेत्र की भागीदारी को मंजूरी प्रदान की है.हालांकि इसके साथ की सिवन ने स्‍पष्‍ट किया कि इसरो अपनी गतिविधियां कम करने नही जा रहा और संगठन अंतरिक्ष-आधारित गतिविधियों को उन्नत अनुसंधान और विकास, अंतर-ग्रहीय और मानव अंतरिक्ष उड़ान मिशन सहित जारी रखेगा.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
Newsbeep

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com