हिंद महासागर में चीन का खतरा, 2 अरब डॉलर खर्च कर भारत ये खतरनाक हेलीकॉप्टर खरीदने की कर रहा है तैयारी

भारत ने अमेरिका से 24 मल्टी रोल MH 60 रोमियो एंटी सबमरीन हेलीकॉप्टर की मांग की है. रक्षा उद्योग के सूत्रों ने कहा कि हेलीकॉप्टर की अनुमानित कीमत 2 बिलियन डॉलर है.

हिंद महासागर में चीन का खतरा, 2 अरब डॉलर खर्च कर भारत ये खतरनाक हेलीकॉप्टर खरीदने की कर रहा है तैयारी

मामले से जुड़े लोगों ने कहा, 'कुछ महीनों में डील फाइनल होने की उम्मीद है'.

खास बातें

  • अगले कुछ महीनों में फाइनल हो सकती है डील
  • भारत को लंबे समय से ऐसे हेलीकॉप्टर की है जरूरत
  • हिंद महासागर में बढ़ेगी भारत की ताकत
वाशिंगटन :

भारत ने अमेरिका से 24 मल्टी रोल MH 60 रोमियो एंटी सबमरीन हेलीकॉप्टर  (Multi-Role MH-60 Romeo Anti-Submarine Helicopters) की मांग की है. रक्षा उद्योग के सूत्रों ने कहा कि हेलीकॉप्टर की अनुमानित कीमत 2 बिलियन डॉलर है. विशेषज्ञों का कहना है कि भारत को पिछले 1 दशक से इस खास हेलीकॉप्टर की जरूरत थी. पिछले दिनों सिंगापुर में सम्मेलन से इतर पीएम मोदी और अमेरिका के उपराष्ट्रपति माइक पेंस की सफल मुलाकात के बाद इस मामले से जुड़े लोगों ने कहा, 'कुछ महीनों में डील फाइनल होने की उम्मीद है'. सूत्रों ने यह भी बताया कि भारत ने अमेरिका को एक पत्र भेजा है. जिसमें तत्काल 24 मल्टी रोल एमएच 60 रोमियो सी-हॉक हेलीकॉप्टर की जरूरत बताई है. गौरतलब है कि हाल के दिनों में दोनों देशों के बीच रक्षा संबंधों में और मजबूती आई है और ट्रंप प्रशासन द्वारा अमेरिका की हाईटेक मिलिट्री हार्डवेयर के दरवाजे भारत के लिए खोलने के फैसले के बाद इसे और बल मिला है.  

भारत के रूस से S-400 सिस्टम की खरीद पर अमेरिका नाराज, मानवरहित ड्रोन पर संशय

सिंगापुर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिका के उपराष्ट्रपति माइक पेंस के बीच मुलाकात के दौरान भी द्विपक्षीय रक्षा संबंध शीर्ष एजेंडे में शामिल था. सूत्रों का कहना है कि MH 60 हेलीकॉप्टर की डील में ऑफसेट की जरूरत भी शामिल हैं. सूत्रों ने संकेत दिया है कि भारत इस डील पर लॉन्ग टर्म प्लान के साथ आगे बढ़ना चाहता है. इस प्लान में 123 हेलीकॉप्टरों का भारत में निर्माण भी शामिल है. आपको बता दें कि वर्तमान में अमेरिकी नेवी के बेड़े में शामिल एमएच 60 रोमियो सी-हॉक हेलीकॉप्टर की गणना दुनिया के सबसे अत्याधुनिक हेलीकॉप्टर में होती है. रक्षा उद्योग के विशेषज्ञों के मुताबिक इस हेलीकॉप्टर को जहाज, युद्धपोत और विमान वाहक पोत आदि से ऑपरेट किया जा सकता है. इससे भारतीय नेवी की ताकत बढ़ेगी. खासकर हिंद महासागर क्षेत्र में चीन के आक्रामक रवैये को देखते हुए इसकी तत्काल जरूरत है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

सरकार ने करीब 15 हजार करोड़ की हथियार खरीद योजना को दी मंजूरी, सेना होगी और भी ताकतवर 

VIDEO: पाकिस्तानी हेलीकॉप्टर ने वायुसीमा उल्लंघन की