ईरानी हवाई क्षेत्र से बचने के लिए उड़ानों का मार्ग बदलेंगी भारतीय विमानन कंपनियां : डीजीसीए

डीजीसीए ने एक ट्वीट के जरिए कहा कि डीजीसीए के परामर्श से सभी भारतीय विमान संचालकों ने यात्रियों की सुरक्षित यात्रा सुनिश्चित करने के लिए ईरानी हवाई क्षेत्र के प्रभावित हिस्सों से बचने का फैसला किया है.

ईरानी हवाई क्षेत्र से बचने के लिए उड़ानों का मार्ग बदलेंगी भारतीय विमानन कंपनियां : डीजीसीए

प्रतीकात्मक चित्र

नई दिल्ली:

नागर विमानन निदेशालय (डीजीसीए) ने शनिवार को कहा कि भारतीय विमानन कंपनियां ईरानी हवाई क्षेत्र का उपयोग करने से बचने के लिए अपनी उड़ानों का मार्ग बदलेंगी. मार्ग बदलने का यह फैसला अमेरिका और ईरान के बीच बढ़ते तनाव के मद्देनजर किया गया है. डीजीसीए ने एक ट्वीट के जरिए कहा कि डीजीसीए के परामर्श से सभी भारतीय विमान संचालकों ने यात्रियों की सुरक्षित यात्रा सुनिश्चित करने के लिए ईरानी हवाई क्षेत्र के प्रभावित हिस्सों से बचने का फैसला किया है.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का विमान कैसे हुआ खराब, DGCA ने शुरू की जांच

डीजीसीए की यह एडवायरी अमेरिकी उड्डयन विनियामक फेडरल एविएशन एडमिनिस्ट्रेशन (एफएए) द्वारा जारी एक नोटिस के बाद आई है. एफएए ने अपने 'नोटिस टू एयरमेन' में अमेरिका में पंजीकृत विमानों को तेहरान उड़ान सूचना क्षेत्र से अगली सूचना तक नहीं उड़ाने को कहा है. यह फैसला सैन्य गतिविधियां तेज होने और राजनीतिक तनाव बढ़ने के मद्देनजर लिया गया है. ईरान द्वारा अमेरिकी ड्रोन को मार गिराए जाने के बाद संयुक्त अरब अमीरात की जनरल सिविल एविएशन अथॉरिटी (जीसीएए) ने पंजीकृत ऑपरेटरों को अपनी उड़ानों का मार्ग बदलने को कहा है. ( इनपुट आईएएनएस से )
 

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com