NDTV Khabar

गुजरात: कच्‍छ के मुंदड़ा में वायुसेना का जगुआर एयरक्राफ्ट क्रैश, पायलट की मौत

वायुसेना का जगुआर कच्छ के मुंदड़ा के पास क्रैश हुआ है. हादसे में पायलट की मौत हो गई है. यह एयरक्राफ्ट रूटीन ट्रेनिंग पर था. जगुआर ने जामनगर से उड़ान भरी थी. अभी ज्‍यादा जानकारी की प्रतिक्षा की जा रही है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
गुजरात: कच्‍छ के मुंदड़ा में वायुसेना का जगुआर एयरक्राफ्ट क्रैश, पायलट की मौत

वायुसेना का जगुआर कच्छ के मुंदड़ा के पास क्रैश हुआ

खास बातें

  1. विमान सुबह करीब साढ़े दस बजे दुर्घटनाग्रस्त हो गया
  2. इस हादसे में पायलट एयर कमांडर संजय चौहान की मौत हो गई
  3. घटना के कारण का पता लगाने के लिए कोर्ट ऑफ इन्क्वायरी के आदेश दिए
नई दिल्ली: वायुसेना का जगुआर कच्छ के मुंदड़ा के पास क्रैश हुआ है. हादसे में पायलट की मौत हो गई है. यह एयरक्राफ्ट रूटीन ट्रेनिंग पर था. जगुआर ने जामनगर से उड़ान भरी थी. लेफ्टिनेंट कर्नल मनीष ओझा ने हादसे की जांच के आदेश दे दिए हैं. उन्‍होंने बताया कि जगुआर एयरक्राफ्ट ने सुबह 10.30 बजे जमानगर से उड़ान भरी थी.

अमेरिकी सेना का C-130 प्लेन दुर्घटनाग्रस्त, 5 लोगों की मौत

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि विमान नियमित प्रशिक्षण मिशन पर था और वह सुबह करीब साढ़े दस बजे दुर्घटनाग्रस्त हो गया. सूत्रों ने बताया कि इस हादसे में पायलट एयर कमांडर संजय चौहान की मौत हो गई. घटना के कारण का पता लगाने के लिए वायुसेना मुख्यालय ने कोर्ट ऑफ इन्क्वायरी के आदेश दिए हैं. गुजरात में एक अधिकारी ने कहा, ‘नियमित उड़ान पर निकला विमान बरेजा गांव के समीप दुर्घटनाग्रस्त हो गया.’स्थानीय लोगों ने बताया कि विमान का मलबा गांव के बाहरी इलाके में दूर दूर तक बिखर गया.


क्रैश लैंडिंग में घायल हुए तटरक्षक हेलीकॉप्टर पायलट की मौत

टिप्पणियां
आपको बता दें कि भारतीय वायुसेना का जगुआर ट्रेनर एयरक्राफ्ट 3 अक्टूबर 2016 को राजस्‍थान के पोखरण के निकट क्रैश हो गया था.  इस विमान के दोनों पायलट सुरक्षित बच गए थे. भारत ने 80 के दशक में दो स्कावड्रन जगुआर बिट्रेन से खरीदे गए थे. डबल इंजन वाले इस लड़ाकू जगुआर विमान को कुछ समय पहले अपग्रेड किया गया था. यह एयरक्राफ्ट दुश्मन के इलाके में घुसकर अंदर तक मार करने में सक्षम है. 
 
jaguar

गौरतलब है कि 10 मार्च को रायगढ़ के मुरूड में तटरक्षक के चेतक हेलीकॉप्टर क्रैश हो गया था. इस हादसे में घायल सह- पायलट सहायक कमांडेंट कैप्टन पेनी चौधरी की 17 दिन बाद मौत हो गयी थी. इस हादसे में पेनी चौधरी के सिर में चोट लगी थी. उन्हें दक्षिण मुंबई के कोलाबा स्थित नौसैनिक अस्पताल आईएनएचएस अश्विनी में भर्ती कराया गया था. जहां उनकी मौत हो गई थी. 

VIDEO: झारखंड में कराई थी हेलीकॉप्टर की क्रैश लैंडिंग
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement