वाइस चीफ एयर मार्शल ने भरी राफेल में उड़ान, कहा- IAF के लिए गेम चेंजर साबित होगा विमान

भारतीय वायु सेना के वाइस चीफ एयर मार्शल आरकेएस भदौरिया ने भारत आने वाले लड़ाकू विमान राफेल में उड़ान भरी.

वाइस चीफ एयर मार्शल ने भरी राफेल में उड़ान, कहा- IAF के लिए गेम चेंजर साबित होगा विमान

आरकेएस भदौरिया

खास बातें

  • वाइस चीफ एयर मार्शल ने भारत आने वाले लड़ाकू विमान राफेल में उड़ान भरी
  • वाइस चीफ एयर मार्शल ने कहा- यह एक बहुत अच्छा अनुभव था
  • 'टेक्नालॉजी और हथियार के रुप में राफेल एक बार फिर गेम चेंजर साबित होगा'
नई दिल्ली:

भारतीय वायु सेना (IAF) के वाइस चीफ एयर मार्शल आरकेएस भदौरिया (RKS Bhadauria) ने भारत आने वाले लड़ाकू विमान राफेल (Rafale) में उड़ान भरी. उन्होंने यह उड़ान फ्रांस (France) में भरी. इस मौके पर उन्होंने कहा, 'यह एक बहुत अच्छा अनुभव था. यहां हमने इससे जुड़े कई पाठ सीखे हैं कि कैसे हम राफेल का भारतीय वायु सेना में बेहतर उपयोग कर सकते हैं. इसके अलावा हम यह भी जानेंगे कि एसयू-30 के साथ इसका संयोजन किस तरह किया जा सकता है.'  भदौरिया ने कहा, 'भारतीय वायु सेना में टेक्नालॉजी और हथियार के रुप में राफेल एक बार फिर गेम चेंजर साबित होगा. आने वाले सालों में यह आक्रामक मिशनों और युद्ध जैसी स्थितियों में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा. 

फ्रांस के राजदूत ने कहा, अगले 2 महीनों के अंदर भारत को मिल जाएगा पहला राफेल विमान

बता दें कि इसी महीने की शुरुआत में फ्रांस के राजदूत अलेक्जेंडर जीगलर ने कहा था कि भारत को पहला राफेल लड़ाकू विमान दो महीनों के अंदर सौंप दिया जाएगा और यह बिल्कुल समय पर मिलेगा. जीगलर ने बताया था कि भारतीय वायुसेना को सभी 36 राफेल लड़ाकू विमान अगले दो साल में सौंप दिए जाएंगे. उन्होंने कहा था, 'भारतीय वायु सेना को पहला राफेल लड़ाकू विमान अब से ठीक दो महीने में सौंप दिया जाएगा, मुझे लगता है यह सितंबर में होगा, बिल्कुल समय पर. वहीं, 36 विमान अगले दो साल में आएंगे.'

भारत में नियुक्त फ्रांस के राजदूत ने दोनों देशों के बीच साझेदारी की सराहना करते हुए कहा था, 'उस ट्रैक रिकार्ड को देखिए जो हमने पिछले 50 साल में भारत के साथ सहयोग से विकसित किए हैं. भारतीय वायुसेना के पास फ्रांसीसी प्रौद्योगिकी और भारत-फ्रांस प्रौद्योगिकी वाले विमान हैं क्योंकि हम दोनों देशों ने बड़ी मात्रा में प्रौद्योगिकी का विकास साथ मिलकर किया है.'  

Newsbeep

संसद में राष्ट्रपति के संबोधन के बाद बोले राहुल गांधी- मेरा रुख आज भी वही, राफेल सौदे में चोरी हुई

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


गौरतलब है कि भारत और फ्रांस के बीच 36 राफेल विमान खरीदने की डील हुई थी. पीएम मोदी की इस घोषणा के बाद इसकी कीमत को लेकर काफी विवाद भी हुआ था. तत्कालीन कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पीएम मोदी पर आरोप लगाया था कि यह डील काफी महंगी की गई और इसकी कीमत यूपीए सरकार के समय हुई डील से दोगुनी है. राहुल गांधी ने लोकसभा चुनावों के दौरान राफेल को बड़ा मुद्दा बनाया था और इसी के आधार पर पीएम मोदी पर खूब हमले किए थे. (इनपुट:भाषा)