घुसपैठ की कोशिश कर रहे तीन आतंकियों को सेना ने जम्मू के नौशेरा सेक्टर में किया ढेर, भारी मात्रा में हथियार बरामद

सेना ने जम्मू के नौशेरा सेक्टर में घुसपैठ की कोशिश को नाकाम करते हुए तीन घुसपैठियों को मार गिराया है. एलओसी पर मारे गए तीनों आतंकी पाकिस्तान में ट्रेनिंग लिये हुए थे.

घुसपैठ की कोशिश कर रहे तीन आतंकियों को सेना ने जम्मू के नौशेरा सेक्टर में किया ढेर, भारी मात्रा में हथियार बरामद

घुसपैठ की कोशिश कर रहे तीन आतंकियों को सेना ने किया ढेर (प्रतीकात्मक तस्वीर)

नई दिल्ली:

जम्मू-कश्मीर (Jammu & Kashmir) में सुरक्षाबलों ने घुसपैठ को रोकने और आतंकियों के सफाये के लिए बड़े पैमाने पर अभियान चला रखा है. भारतीय सेना (Indian Army) ने सोमवार को बताया कि सेना ने जम्मू के नौशेरा सेक्टर में घुसपैठ की कोशिश को नाकाम करते हुए तीन घुसपैठियों को मार गिराया है. एलओसी पर मारे गए तीनों आतंकी पाकिस्तान में ट्रेनिंग लिये हुए थे. इन आतंकियों के पास से  भारी मात्रा में हथियार भी बरामद हुए हैं. एलओसी पर घुसपैठ को रोकने के लिए सेना की कार्रवाई 28 मई से चल रही है. फिलहाल इलाके में तलाशी अभियान चल रहा है. 

सेना घुसपैठ की कोशिश करने वाले इन आतंकियों पर पिछले एक हफ्ते से नजर रखे हए थी. नौशेरा सेक्टर के दूसरी ओर पाक पोस्ट के पास रिहाइशी आबादी है. सेना के मुताबिक, इन आतंकियों को वो पहले ही मार गिराती लेकिन खतरा ये था कि इससे पीओके में रहने आने आम लोग मारे जा सकते थे. इसलिए जब ये आतंकी लॉन्च पैड से एलओसी क्रॉस करने की कोशिश की तो सेना के जवानों ने इनको मार गिराया. 

इससे पहले 15 कोर के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल बी एस राजू ने कहा था कि पाक के सारे आतंकी कैम्प और लॉन्चिंग पैड पहले की तरह खुल गए हैं.

मई का महीना कश्मीर में सुरक्षा बलों पर काफी भारी पड़ा है. हालात ये है कि इस महीने जितने आतंकी सुरक्षाबलों ने मार गिराए हैं करीब उतने ही सुरक्षाबलों को इस कामयाबी के लिये शहादत देनी पड़ी है. इस महीने कश्मीर में आतंकियों के साथ नौ मुठभेड़ें हुईं. सुरक्षाबलों पर चार हमले हुए. छह आम नागरिकों की जान गई. तीन को आतंकियों ने मार दिया और तीन श्रीनगर में मुठभेड़ के दौरान दीवार गिरने से मर गए. 

मई महीने में शहीद होने वाले 15 सुरक्षाकर्मियों में सबसे अधिक नुकसान सेना को हुआ है. सेना के सात जवान शहीद हुए हैं. सीआरपीएफ और जम्मू कश्मीर पुलिस के तीन-तीन जवान शहीद हो गए हैं. वही, बीएसएफ के दो जवान भी आतंक हमले में शहीद हुए हैं.     

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

सुरक्षाबलों की कार्रवाई में हिज्बुल के टॉप कमांडर रियाज नायकू से लेकर हुर्रियत कांफ्रेंस के अध्यक्ष के बेटे जुनैद सहराई को मार गिराया है. यह सुरक्षा बलों के लिये बहुत बड़ी कामयाबी है. 

वीडियो: पिछले दस साल से सिक्योरिटी फोर्स से बच रहा था रियाज नाइकू: पूर्व लेफ्टिनेंट जनरल बीएस हुड्डा