NDTV Khabar

सेना के अधिकारी का दावा, 500 से ज्यादा आतंकवादी कश्मीर में घुसपैठ की फिराक में

सेना के एक टॉप ऑफिशियल ने शुक्रवार को कहा कि पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (PoK) में नियंत्रण रेखा के पास कई ट्रेनिंग सेंटरों में 500 से ज्यादा आतंकवादी जम्मू कश्मीर में घुस जाने के मौके की फिराक में बैठे हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
सेना के अधिकारी का दावा, 500 से ज्यादा आतंकवादी कश्मीर में घुसपैठ की फिराक में

प्रतीकात्मक फोटो

भदरवाह:

सेना के एक टॉप ऑफिशियल ने शुक्रवार को कहा कि पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (PoK) में नियंत्रण रेखा के पास कई ट्रेनिंग सेंटरों में 500 से ज्यादा आतंकवादी जम्मू कश्मीर में घुस जाने के मौके की फिराक में बैठे हैं. उन्होंने यह भी कहा कि 200 से 300 आतंकवादी पाकिस्तान की मदद से इस इलाके को अशांत बनाये रखने के लिए जम्मू कश्मीर के अंदर सक्रिय हैं. सेना की उत्तरी कमान के प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह ने जम्मू के भदरवाह में संवाददाताओं से कहा, 'जहां तक जम्मू कश्मीर में सक्रिय आतंकवादियों की बात है तो बाहर से आये 200-300 आतंकवादी अपने काम में लगे हुए हैं.' सिंह ने जम्मू कश्मीर में सक्रिय आतंकवादियों और देश में घुसपैठ करने के लिए PoK में तैयार बैठे आतंकवादियों की संख्या के बारे में पूछे गये सवालों के जवाब में यह बात कही. 

कश्मीर में कल से बहाल हो सकती हैं पोस्टपेड मोबाइल सेवाएं, अधिकारियों ने इंटरनेट और प्रीपेड सर्विस के लिए कही ये बात


उन्होंने कहा, 'इसी तरह, करीब 500 पीओके में आतंकवादी प्रशिक्षण शिविरों में डेरा डाले हुए हैं और जम्मू कश्मीर में घुसपैठ करने के लिए तैयार बैठे हैं.' उन्होंने कहा कि आतंकवादियों के ट्रेनिंग सेंटर्स के हिसाब से यह संख्या घटती बढ़ती रहती है. सिंह ने कहा, 'उनकी संख्या भले जो भी हो, हम उन्हें रोकने और उनका सफाया करने में सक्षम हैं ताकि इस क्षेत्र में शांति और सामान्य स्थिति बनी रहे.' सैन्य कमांडर ने कहा कि जम्मू कश्मीर में शांति और सामान्य स्थिति सुनिश्चित करना सेना का सदैव प्रयास रहा है. 

टिप्पणियां

अगर 'अनौपचारिक' बातचीत में चीन की तरफ से उठा जम्मू-कश्मीर का मुद्दा?

उन्होंने कहा, 'लेकिन पाकिस्तान यहां शांति बिगाड़ने के लिए हिमाकत करता रहता है. आज भी पाकिस्तान के अंदर आतंकवादी ढांचा चल रहा है. उनमें आतंकवादियों के ट्रेनिंग सेंटर्स और देश में घुसपैठ कराने के लिए उनके लांचिंग पैड शामिल हैं.' जब सिंह से पाकिस्तान द्वारा पंजाब में ड्रोन के माध्यम से हथियार गिराने के मुद्दे पर सवाल किया गया तब उन्होंने कहा कि आतंकवादियों को हथियार से लैस रखने के लिए ड्रोनों की तैनाती पाकिस्तान का नया तरीका है. उन्होंने कहा, 'लेकिन मैं आपको सुनिश्चित करना चाहता हूं कि भारतीय सेना पाकिस्तान के किसी भी नापाक मंसूबे को नाकाम करने के लिए पूरी तरह से तैयार है. उनके मंसूबों को कामयाब नहीं होने दिया जाएगा.'
 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement