NDTV Khabar

भारतीय सेना ने पाकिस्तान को भेजा संदेश- सफेद झंडा लेकर आओ, लाशें पड़ी हैं उठाकर ले जाओ

जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) के केरन के सेक्टर में शनिवार को पाकिस्तानी की बॉर्डर एक्शन टीम यानी BAT की ओर से की जा रही घुसपैठ की साजिश को भारतीय सेना ने नाकाम कर दिया गया है. इस कार्रवाई में इस करवाई में पाक सेना या फिर आतंकियों के पांच से सात लोग मारे गये हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
भारतीय सेना ने पाकिस्तान को भेजा संदेश- सफेद झंडा लेकर आओ, लाशें पड़ी हैं उठाकर ले जाओ

Jammu and Kashmir: केरन सेक्टर में सेना ने घुसपैठ की कोशिश को नाकाम कर दिया है

खास बातें

  1. भारतीय सेना का मुंहतोड़ जवाब
  2. BAT की घुसपैठ की कोशिश नाकाम
  3. 5-7 घुसपैठिए मारे गए
नई दिल्ली:

Jammu and Kashmir: जम्मू-कश्मीर के केरन के सेक्टर में शनिवार को पाकिस्तानी की बॉर्डर एक्शन टीम यानी BAT की ओर से की जा रही घुसपैठ की साजिश को भारतीय सेना ने नाकाम कर दिया गया है. इस कार्रवाई में पाक सेना  या फिर पांच से सात आतंकी मारे गये हैं. अब भारतीय सेना की ओर से पाकिस्तान की सेना से कहा गया है कि वह सफेद झंडा लेकर आए और इन शवों को ले वापस ले जाए. लेकिन पाकिस्तान की ओर से कोई जवाब नहीं आया है. गौरतलब है कि पिछले 36 घंटे में घाटी में जैश के 4 आतंकवादी भी मारे गए हैं. आतंकियों के पास से स्नाइपर राइफ़ल, IED और पाक में बनी बारूदी सुरंग बरामद हुई है. वहीं पूंछ ज़िले के मेंढर सेक्टर में पाकिस्तानी सेना ने सीज़फ़ायर को तोड़ा है..पाक की ओर से छोटे हथियारों से फ़ायरिंग की गई और मोर्टार से गोले भी दागे गए.  सेना के मुताबिक पाकिस्तान सेना आतंकियों को घुसपैठ कराने में न केवल लगी रहती है बल्कि उन्हें हथियार भी मुहैया कराती है. ये बात भारतीय सेना हमेशा डीजीएमओ लेवल बातचीत में उठाती रही है. सेना ने ये भी साफ किया है कि वो ऐसी हरकतों के खिलाफ जवाबी कार्रवाई करता रहेगा सेना एलओसी के साथ साथ कश्मीर में आतंकियों की हर हरकत का जवाब देती रहेगी.  वहीं सेना की ओर से जानकारी दी गई है कि पिछले 36 घंटों में पाकिस्तान की ओर से कोई हरकत नहीं की गई है और न अमरनाथ जी यात्रा को निशाना बनाया गया है. 

कश्मीर में कयासों का दौर
जम्मू-कश्मीर में पुलिस की एडवायज़री और फ़ौज की नयी कंपनियों की तैनाती के बीच क़यासों का दौर जारी है..इन सबके बीच सियासी दलों के प्रतिनिधियों ने राज्यपाल सत्यपाल मलिक से भी मुलाक़ात की. लेकिन राज्यपाल ने नेताओं को जो भरोसा दिया है उससे वो संतुष्ट नहीं हैं.


सिविल एविएशन मंत्रालय ने दी हिदायत
सिविल एविएशन मंत्रालय ने अमरनाथ यात्रियों और सैलानियों के कश्मीर घाटी से लौटाने के मद्देनज़र एयरलाइन्स कंपनियों को श्रीनगर से उड़ान भरने वाले विमानों का किराया नियंत्रण में रखने की सलाह दी है.  मंत्रालय ने ट्वीट किया है कि ... ''नागर विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने सभी एयरलाइनों को अमरनाथ यात्रा से लौट रहे तीर्थयात्रियों के लिए विमान किराये में तेजी से हो रही वृद्धि को नियंत्रण में रखने को कहा है.'' श्रीनगर-दिल्ली के बीच चार अगस्त के लिए विमानों का किराया 11,000 रूपये से लेकर 20,000 रूपये के बीच देखने को मिला. वहीं, चार अगस्त के लिए श्रीनगर-मुंबई के बीच का किराया 14,000 रूपये से शुरू होता दिखा. 

सैलानियों को कश्मीर से निकालने के लिए अतिरिक्त उड़ान​

अन्य खबरें :

जम्मू कश्मीर से यात्रा करने वाले पैसेंजर्स के लिए टिकट कैंसिल करने पर लगने वाला चार्ज माफ

टिप्पणियां

अमरनाथ यात्रा रोकने के मामले पर बोले दिग्विजय सिंह, झूठ बोल रही है मोदी सरकार, बड़ी कार्रवाई के लक्षण

क्या जम्मू-कश्मीर पुलिसकर्मियों के हथियार जमा कराए जा रहे हैं? जानें- सच्चाई



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement