NDTV Khabar

9 साल के लंबे इंतजार के बाद अब सेना को मिलेंगी बुलेट प्रूफ जैकेट

लंबे समय से सेना के भीतर चल रही बुलेट प्रूफ जैकेट की कमी अब जल्द ही दूर जाएगी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
9 साल के लंबे इंतजार के बाद अब सेना को मिलेंगी बुलेट प्रूफ जैकेट

प्रतीकात्मक तस्वीर.

नई दिल्ली: लंबे समय से सेना के भीतर चल रही बुलेट प्रूफ जैकेट की कमी अब जल्द ही दूर जाएगी. 9 साल पहले किए गए अनुरोध के बाद रक्षा मंत्रालय ने सोमवार को 639 करोड़ रुपये की लागत से 1.86 लाख बुलेटप्रुफ जैकेटों की खरीद के लिए एक रक्षा कंपनी के साथ अनुबंध पर हस्ताक्षर किया. मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि अनुबंध को 'सफल' फील्ड परीक्षणों के बाद अंतिम रूप दिया गया. अनुबंध स्वदेशी रक्षा उत्पादक एसएमपीपी प्राइवेट लिमिटेड ने हासिल किया है.

यह भी पढ़ें : इंजीनियरिंग के छात्र ने किया सुरक्षाबलों की बुलेट प्रूफ जैकेट को हल्का बनाने का दावा

2009 में ही सरकार ने माना था कि सेना को 1.86 लाख बुलेटप्रुफ जैकेटों की जरूरत थी, लेकिन सेना द्वारा कराए गए ट्रायल में किसी भी कंपनी का बुलेट प्रूफ जैकेट पैमाने पर खरा नहीं उतरा.

VIDEO : CRPF को मिली बुलेटप्रूफ बस, DRDO ने की है तैयार


टिप्पणियां
मंत्रालय ने बयान में कहा, '1,86,138 बुलेटप्रुफ जैकेटों की खरीद के लिए पूंजी खरीद के जरिये एक बड़े अनुबंध पर हस्ताक्षर किया गया है.' इसमें कहा गया है कि नई बुलेटप्रुफ जैकेट लड़ाई में सैनिक को '360 डिग्री संरक्षण' मुहैया कराएगी, जिसमें हार्ड 'स्टील कोर' बुलेट से संरक्षण भी शामिल है.

(इनपुट : भाषा)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement