Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

पीयूष गोयल का दावा, रेल हादसों में इस वित्तीय वर्ष में कोई मौत नहीं

वहीं रेल मंत्री पीयूष गोयल के दावे पर तेजस्वी यादव ने सवाल उठाते हुए बिहार में सीमांचल एक्प्रेस के डिरेल होने की घटना की जिक्र किया है जिसमें 7 यात्रियों की मौत और 24 घायल हो गए थे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पीयूष गोयल का दावा, रेल हादसों में इस वित्तीय वर्ष में कोई मौत नहीं

रेल मंत्री पीयूष गोयल के दावे पर तेजस्वी यादव ने सवाल उठाए हैं.

नई दिल्ली:

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने दावा किया है कि इस वित्तीय साल में अभी तक रेल दुर्घटनाओं में किसी भी यात्री का जान नहीं गई है. गोयल ने रेलवे की उपलब्धि का बखान ट्वीटर पर किया है. लेकिन आपको बता दें कि अभी मौजूदा वित्तीय साल पूरे होने में 3 महीने बाकी हैं. रेलवे की ओर से दिए आंकड़ों में कहा गया है कि  अब तक रेलवे में रेलकर्मियों की तो मौत हुई लेकिन किसी भी यात्री की मौत नहीं हुई. साल 2018-19 में रेलवे में अनेक दुर्घटनाओं में 16, वर्ष 2017-2018 में 28 और 2016-2017 में 195 लोगों की मौत हुई थी. मिले आंकड़ों के अनुसार 1990-1995 के बीच प्रति वर्ष औसतन 500 से अधिक दुर्घटनाएं हुईं और इस दौरान 2,400 लोगों की मौत हुई और 4,300 लोग घायल हुए. इसके बाद 2013-2018 के बीच प्रति वर्ष औसतन 110 दुर्घटनाएं हुईं जिसमें 900 लोग मारे गए और 1500 लोग घायल हो गए. रेलवे ने कहा कि 2019 में रेल दुर्घटनाओं में किसी भी यात्री की जान नहीं जाने का श्रेय रेलवे द्वारा उठाए गए अनेक कदमों को जाता है. इनमें रख रखाव के लिए मेगा ब्लॉक्स और आधुनिक मशीनों का इस्तेमाल होना, मानव रहित सभी क्रॉसिंगों को समाप्त करना और इसी प्रकार के अनेक उपाय शामिल हैं. रेलवे ट्रेन दुर्घटनाओं में टक्कर होना,गाड़ी पटरी से उतरना, आग लगना, क्रांसिंग के दौरान होने वाली दुर्घटनाएं और अन्य दुर्घटनाएं शामिल हैं. ट्रेन परिचालन के दौरान उसकी चपेट में आने से हुई मौत को रेलवे दुर्घटना नहीं मानता.

tmapo4q8

(पीयूष गोयल ने ट्वीट किया है)

तेजस्वी यादव का दावा 

14iojksg


वहीं रेल मंत्री पीयूष गोयल के दावे पर तेजस्वी यादव ने सवाल उठाते हुए बिहार में सीमांचल एक्प्रेस के डिरेल होने की घटना की जिक्र किया है जिसमें 7 यात्रियों की मौत और 24 घायल हो गए थे. यह घटना इसी साल फरवरी में हुई थी. इस दुर्घटना पर पीयूष गोयल ने मुआवजे का भी ऐलान किया था. हालांकि इसमें थोड़ा ध्यान देने की बात यह है कि पीयूष गोयल ने वित्तीय साल का जिक्र किया है जो 1 अप्रैल से अगले साल 31 मार्च तक चलता है. अभी इस वित्तीय साल को पूरे होने में 3 महीने बाकी हैं.

टिप्पणियां



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें. India News की ज्यादा जानकारी के लिए Hindi News App डाउनलोड करें और हमें Google समाचार पर फॉलो करें


 Share
(यह भी पढ़ें)... ट्रेनों में तत्‍काल रिजर्वेशन कराने वालों के लिए खुशखबरी! रेलवे ने उठाया यह बड़ा कदम

Advertisement