NDTV Khabar

इंडियन रेलवे ने साल 2017 में 2 करोड़ से ज्यादा बेटिकट यात्री पकड़े, वसूले इतने करोड़ रुपये

भारतीय रेल में पिछले वर्ष दो करोड़ से अधिक यात्रियों ने बिना टिकट यात्रा की और इनसे 935.64 करोड़ रुपये की राशि प्राप्त हुई.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
इंडियन रेलवे ने साल 2017 में 2 करोड़ से ज्यादा बेटिकट यात्री पकड़े, वसूले इतने करोड़ रुपये

प्रतीकात्मक फोटो

खास बातें

  1. वर्ष 2017 में 2 करोड़ से ज्यादा बेटिकट यात्री पकड़े गए
  2. इन यात्रियों से 935.64 करोड़ रुपये की राशि प्राप्त हुई
  3. भारतीय रेल सतर्कता रिपोर्ट से यह जानकारी मिली
नई दिल्ली:

भारतीय रेल में पिछले वर्ष दो करोड़ से अधिक यात्रियों ने बिना टिकट यात्रा की और इनसे 935.64 करोड़ रुपये की राशि प्राप्त हुई. लोकसभा में पिछले वर्ष दिसंबर माह में पेश रेल अभिसमय समिति की ‘‘भारतीय रेल सतर्कता रिपोर्ट’’ से यह जानकारी प्राप्त हुई है. समिति वर्ष 2016-17 के दौरान भारतीय रेल में बिना टिकट या गलत टिकटों के साथ यात्रा करते हुए पकड़े गए व्यक्तियों की अत्यधिक संख्या से चिंतित है. वर्ष 2016-17 में भारतीय रेल में दो करोड़ से अधिक यात्रियों ने बिना टिकट यात्रा की और इनसे 935.64 करोड़ रुपये की राशि प्राप्त हुई. उल्लेखनीय है कि 2015-16 में 1.9 करोड़ लोग बिना टिकट या गलत टिकटों के साथ यात्रा करते हुए पकड़े गए थे.

यह भी पढ़ें: ट्रेन यात्रियों के बैग के हैंडल से सोने के 24 बिस्किट जब्त, बिस्किट का मूल्य 1.26 करोड़ रुपए से अधिक


इस संबंध में सबसे अधिक बेटिकट यात्री उत्तर रेलवे में पकड़े गये जिनकी संख्या 26.40 लाख थी. इसके बाद दक्षिण मध्य रेलवे में 25.86 लाख, मध्य रेलवे में 24.24 लाख, पश्चिम रेलवे में 20.24 लाख, पूर्व मध्य रेलवे 18.62 लाख, उत्तर मध्य रेलवे 16.56 लाख और उत्तर पूर्व रेलवे में 12 लाख बेटिकट यात्री पकड़े गए. रिपोर्ट में कहा गया है कि बाकी सभी जोनल रेलवे में बिना टिकट यात्रा करते पकड़े लोगों की संख्या एक अंक में है. इसमें कहा गया है कि जहां तक पिछले वर्ष बेटिकट यात्रियों से वसूली का संबंध है, 125.13 करोड़ रुपये की वसूली के साथ मध्य रेलवे इस सूची में सबसे ऊपर है. इसके बाद 116.52 करोड़ रुपये की वसूली के साथ उत्तर रेलवे का स्थान आता है. 

यह भी पढ़ें: जून में किया जाएगा पिछले 15 सालों से बन रहे पुल का उद्घाटन : रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष अश्विनी लोहानी

टिप्पणियां

इसके बाद पश्चिम रेलवे में 95.86 करोड़ रुपये, उत्तर मध्य रेलवे में 84.09 करोड़ रुपये, पूर्व मध्य रेलवे 72.52 करोड़ रुपये और उत्तर पूर्व रेलवे से 60.80 करोड़ रुपये वसूले गए. अन्य सभी जोनल रेलवे से 50 करोड़ रुपये से कम की वसूली की गई है. उल्लेखनीय है कि भारत में रोजाना 12 हजार ट्रेनों से करीब 2.5 करोड़ लोग यात्रा करते हैं. भारतीय रेलवे के तहत करीब 65 हजार किलोमीटर रूट कवर होता है. 

VIDEO: रेलवे को मिलेंगे आधुनिक सुविधाओं से लैस अनुभूति कोच
लोकसभा में सरकार की ओर से पेश आंकड़ों के मुताबिक, रेल टिकटों से भारतीय रेल को साल 2015-16 में 45,324 करोड़ रुपये की आय हुई, जो 2016-17 में बढ़कर 47,678 करोड़ रुपये हो गई.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement