श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में नहीं की जाएगी सोशल डिस्टैंसिंग, गंतव्य राज्य में भी तीन स्टेशनों पर रुकेंगी

Shramik Special Trains: श्रमिक विशेष ट्रेनें अब गन्तव्य राज्य में तीन स्टेशनों पर रुकेंगी और 1,200 की जगह पूरी क्षमता 1,700 लोगों के साथ चलेंगी. भारतीय रेलवे ने सोमवार को यह आदेश दिया है.

श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में नहीं की जाएगी सोशल डिस्टैंसिंग, गंतव्य राज्य में भी तीन स्टेशनों पर रुकेंगी

Indian Railways Passenger Guidelines: श्रमिक विशेष ट्रेनों ने अब नहीं होगी सोशल डिस्टैंसिंग (फाइल फोटो)

खास बातें

  • श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में नहीं की जाएगी सोशल डिस्टैंसिंग
  • गंतव्य राज्य में तीन स्टेशन पर रुकेंगी श्रमिक ट्रेनें
  • अब 1200 की जगह 1700 लोगों को लेकर जाएगी

प्रवासी मजदूरों को उनके घर पहुंचाने के लिए चलाई गई श्रमिक विशेष ट्रेनें (Shramik Special trains) अब गन्तव्य राज्य (अर्थात् जिस राज्य के लिए ट्रेन चलाई गई है)  में तीन स्टेशनों पर रुकेंगी और 1,200 की जगह पूरी क्षमता 1,700 लोगों के साथ चलेंगी. भारतीय रेलवे (Indian Railways) ने सोमवार को यह आदेश जारी किया. इसके साथ ही इन ट्रेनों में सोशल डिस्टैंसिंग (Social Distancing) भी नहीं होगी और मिडिल बर्थ को भी इस्तेमाल किया जाएगा. रेलवे ने लॉकडाउन के दौरान ज्यादा से ज्यादा प्रवासी मजदरों को उनके घर पहुंचाने के लिए यह फैसला लिया है.

रेलवे की ओर से जारी आदेश में, रेलवे जोनों को संबंधित राज्यों में गंतव्य के अलावा तीन जगहों पर गाड़ियों के ठहराव के लिये कहा गया है. राज्य सरकारों के आग्रह पर यह निर्णय किया गया है. इसमें यह भी कहा गया है कि ट्रेन में यात्रियों को ले जाने की क्षमता उसमें मौजूद शयनयान सीटों की संख्या के बराबर होनी चाहिये.

श्रमिक विशेष गाड़ियों में 24 डब्बे हैं और प्रत्येक डब्बे में 72 यात्रियों को ले जाने की क्षमता है. सामाजिक मेल जोल से दूरी के प्रोटोकॉल का पालन करने के लिये वर्तमान में प्रत्येक डब्बे में 54 यात्रियों को लेकर ले जाया जा रहा है. भरतीय रेल ने एक मई से अब तक पांच लाख यात्रियों को उनके गंतव्य तक पहुंचाया है.

एक वरिष्ठ अधिकारी ने इस कदम के बारे में पीटीआई को जानकारी देते हुए बताया, "रेलवे के पास रोजाना 300 ट्रेनें चलाने की क्षमता है और हम इसे ज्यादा से ज्यादा बढ़ाना चाहते हैं" अगले कुछ दिनों में हम चाहते हैं कि ज्यादा से ज्यादा संख्या में प्रवासी श्रमिकों को उनके घरों तक पहुंचाया जाए। और इसके लिए हमने राज्यों से मंजूरी भेजने को कहा है."  

इससे पहले रविवार को रेल मंत्रालय ने कोरोनावायरस लॉकडाउन के मद्देनदर बंद रेल सेवाओं को फिर से शुरू करने की घोषणा की थी. इसके तहत मंगलवार (12 मई) से ट्रेनों को चरणबद्ध तरीके से चलाने की योजना है. 

Newsbeep

भारतीय रेलवे ने रविवार शाम को यह सूचना दी थी कि 12 मई से 15 जोड़ी ट्रेनें चलाई जाएंगी. रेलवे की तरफ से जारी प्रेस रिलीज के अनुसार इस दौरान नई दिल्ली स्टेशन से डिब्रूगढ़, अगरतला, हावड़ा, पटना, बिलासपुर, रांची, भुवनेश्वर, सिकंदराबाद, बेंगलुरु, चेन्नई, तिरुवनंतपुरम, मडगांव, मुंबई सेंट्रल, अहमदाबाद और जम्मू तवी को जोड़ने वाली इन ट्रेनों को विशेष ट्रेनों के रूप में चलाया जाएगा. इन ट्रेनों के लिए आज शाम 4 बजे से IRCTC से बुकिंग की जा सकेगी. 

वीडियो: 12 मई से यात्री ट्रेनें शुरू करेगा रेलवे

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com