कोरोनावायरस लॉकडाउन के बढ़ते ही भारतीय रेलवे ने बताया, सभी यात्री ट्रेन सेवाएं 3 मई तक रद्द

PM मोदी ने 3 मई 2020 तक के लिए देशभर में लॉकडाउन को बढ़ाने का फैसला लिया है. भारतीय रेलवे (Indian Railways) द्वारा सभी यात्री ट्रेन सेवाओं के रद्द करने का निर्देश जारी कर दिया है.

कोरोनावायरस लॉकडाउन के बढ़ते ही भारतीय रेलवे ने बताया, सभी यात्री ट्रेन सेवाएं 3 मई तक रद्द

भारतीय रेलवे (Indian Railways) द्वारा सभी यात्री ट्रेन सेवाओं के रद्द करने का निर्देश- फाइल फोटो

नई दिल्ली:

कोरोनावायरस (Coronavirus) के खतरे को देखते हुए इसके संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने 3 मई 2020 तक के लिए देशभर में लॉकडाउन को बढ़ाने का फैसला लिया है. लॉकडाउन के मद्देनजर भारतीय रेलवे (Indian Railways) द्वारा सभी यात्री ट्रेन सेवाओं के रद्द करने का निर्देश जारी कर दिया है. भारतीय रेलवे द्वारा जारी निर्देश में प्रीमियम ट्रेनें, मेल/एक्सप्रेस ट्रेनें, पैसेंजर ट्रेनें, उपनगरीय ट्रेनें, कोलकाता मेट्रो रेल, कोंकण रेलवे आदि सहित सभी यात्री ट्रेन सेवाएं 3 मई 2020 तक चौबीसों घंटे रद्द रहेंगी.

इसके अलावा भारतीय रेलवे अन्य अहम जानकारी भी दी. भारतीय रेलवे द्वारा जारी की गई प्रेस विज्ञप्ति के मुताबिक देश के विभिन्न हिस्सों में आवश्यक आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए माल और पार्सल गाड़ियों की आवाजाही बनी रहेगी. साथ ही यात्री टिकट बुकिंग 3 मई तक के लिए बंद कर दी गई है. रेलवे स्टेशनों और रेलवे स्टेशन परिसर में आरक्षित/अनारक्षित यात्रा के लिए रेल यात्रा टिकटों की बुकिंग के लिए सभी काउंटर 3 मई 2020 तक बंद रहेंगे. इसकी जानकारी रेलवे मंत्रालय के एक्सक्यूटिव डायरेक्टर राजेश दत्त बाजपेयी ने दी.

Newsbeep


 
बता दें कि राष्ट्र के नाम संबोधन में पीएम मोदी ने कहा, ''साथियों, सारे सुझावों को ध्यान में रखते हुए ये तय किया गया है कि भारत में लॉकडाउन को अब 3 मई तक और बढ़ाना पड़ेगा. यानि 3 मई तक हम सभी को, हर देशवासी को लॉकडाउन में ही रहना होगा. इस दौरान हमें अनुशासन का उसी तरह पालन करना है, जैसे हम करते आ रहे हैं. मेरी सभी देशवासियों से ये प्रार्थना है कि अब कोरोना को हमें किसी भी कीमत पर नए क्षेत्रों में फैलने नहीं देना है. स्थानीय स्तर पर अब एक भी मरीज बढ़ता है तो ये हमारे लिए चिंता का विषय होना चाहिए.'' 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


पीएम मोदी ने कहा, ''अगले एक सप्ताह में कोरोना के खिलाफ लड़ाई में कठोरता और ज्यादा बढ़ाई जाएगी. 20 अप्रैल तक हर कस्बे, हर थाने, हर जिले, हर राज्य को परखा जाएगा, वहां लॉकडाउन का कितना पालन हो रहा है, उस क्षेत्र ने कोरोना से खुद को कितना बचाया है, ये देखा जाएगा. जो क्षेत्र इस अग्निपरीक्षा में सफल होंगे, जो Hotspot में नहीं होंगे, और जिनके Hotspot में बदलने की आशंका भी कम होगी, वहां पर 20 अप्रैल से कुछ जरूरी गतिविधियों की अनुमति दी जा सकती है. इसलिए, न खुद कोई लापरवाही करनी है और न ही किसी और को लापरवाही करने देना है. कल इस बारे में सरकार की तरफ से एक विस्तृत गाइडलाइन जारी की जाएगी.''