Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

व्‍यापारियों को रेलवे देगी तोहफा, जल्‍द शुरू होगी रात में चलने वाली 'डबल डैकर उदय एक्‍सेप्रस'

रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने 'स्मार्ट रेलवे' पर मंगलवार को यहां आयोजित सम्मेलन में कहा कि रेलवे नई सेवा उदय एक्सप्रेस के जरिये महानगरों को जोड़ने पर गौर कर रही है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
व्‍यापारियों को रेलवे देगी तोहफा, जल्‍द शुरू होगी रात में चलने वाली 'डबल डैकर उदय एक्‍सेप्रस'

खास बातें

  1. रेलवे जल्द ही आधुनिक सुविधाओं से युक्त डबल-डेकर रेल सेवा शुरू करेगी.
  2. सुरेश प्रभु ने 'स्मार्ट रेलवे' पर आयोजित सम्मेलन में यह बात कही.
  3. रेलवे नई सेवा उदय एक्सप्रेस के जरिये महानगरों को जोड़ने पर गौर कर रही है.
नई दिल्‍ली:

यात्रियों को बेहतर सुविधाएं उपलब्ध कराने में लगी भारतीय रेल अब उद्यागपतियों को आकर्षित करने के लिए जल्दी ही आधुनिक सुविधाओं से युक्त एक रात की डबल-डेकर रेल सेवा शुरू करेगी.

रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने 'स्मार्ट रेलवे' पर मंगलवार को यहां आयोजित सम्मेलन में कहा कि रेलवे नई सेवा उदय एक्सप्रेस के जरिये महानगरों को जोड़ने पर गौर कर रही है.

उद्योग मंडल फिक्की द्वारा आयोजित सम्मेलन में उन्होंने कहा, 'हम व्यापारी यात्रियों के लिए उदय एक्सप्रेस शुरू करेंगे. इसमें वे रात में यात्रा शुरू करेंगे और सुबह गंतव्य पर पहुंच जाएंगे, ताकि वे अपनी होटल की लागत बचा सके'. फिलहाल रेलवे ने क्षमता बढ़ाने और यात्रियों को यात्रा के दौरान बेहतर सुविधाएं देने के लिए परियोजनाओं का भी क्रियान्वयन कर रही है.

प्रभु ने कहा, 'हम समग्र रणनीति के साथ आगे बढ़ रहे हैं और हम इसे बेहद चुनौतीपूर्ण स्थिति में कर रहे हैं. चाहे खान-पान हो, टिकट बुकिंग हो या फिर कोच की सफाई हो, ये सभी चीजें रेलवे में स्मार्ट तरीके से की जा रही हैं'. उन्होंने कहा कि बुनियादी ढांचे में काफी काम किए जाने की जरूरत है. रेलवे में पूर्व में पर्याप्त निवेश और क्षमता विस्तार नहीं हुआ.


मंत्री ने कहा, 'विस्तार मांग के अनुरूप नहीं था. माल ढुलाई का काम रेलवे से दूर जा रहा था. मांग एवं आपूर्ति में काफी अंतर था, इसीलिए हमने इससे निपटने के लिए समग्र रणनीति तैयार करने का फैसला किया. हमने परियोजनाओं को क्रियान्वित करने की कोशिश की है, जिसमें तेजी से नई लाइन बिछाना और विद्युतीकरण शामिल हैं'.

अत्याधुनिक प्रौद्योगिकी के उपयोग पर जोर देते हुए उन्होंने कहा कि प्रौद्योगिकी के बेहतर उपयोग की चुनौती है. प्रौद्योगिकी हमेशा रही है, लेकिन अब इसका पैमाना बढ़ गया है. सही प्रौद्योगिकी का उपयोग पासा पलटने वाला होगा.

रेल क्षेत्र में निवेश को रेखांकित करते हुए प्रभु ने कहा, 'रेलवे में एक रुपये का निवेश आर्थिक एवं रोजगार सृजन के मामले में छह गुना प्रभाव पड़ा है'. उन्होंने कहा कि रेलवे ने पिछले ढाई साल में यात्रियों की लागत में कमी लाने के साथ-साथ उसे व्यापार अनुकूल बनाने के लिए खासकर किराया के अलावा अन्य स्रोत से राजस्व बढ़ाने, क्षमता तथा परिचालन कुशलता में वृद्धि हेतु स्मार्ट पहल की है, जिससे देश के सकल घरेलू उत्पाद में 2 प्रतिशत की वृद्धि हो सकती है.

मालगाड़ी के लिए अलग गलियारा का जिक्र करते हुए प्रभु ने कहा कि इसमें तेजी से प्रगति हुई है और इसके 2019 तक परिचालन में आने की उम्मीद है.

टिप्पणियां

सम्मेलन के दौरान प्रभु ने फिक्की-क्रिसिल की 'रिफॉर्म ऑन ट्रैक-एक्सीलरेटिंग इंडियन रेलवेज इनवेस्टमेंट ट्रैजेक्टरी' विषय पर और फिक्की-बीसीजी की 'इंडिया रेलवे स्टेशन रिडेवलपमेंट-ट्रांसफॉर्मिंग एंड क्रिएटिंग न्यू विन-विन ऑपुर्चुनिटीज़’विषय पर रिपोर्ट भी जारी की.

(इनपुट भाषा से)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... दिल्ली हिंसा: आधी रात CM केजरीवाल के घर के बाहर JNU और जामिया के छात्रों ने किया प्रदर्शन, पुलिस ने बरसाई पानी की बौछारें

Advertisement