NDTV Khabar

भारत की रक्षा तैयारियां हमेशा सर्वोच्च होनी चाहिए : रक्षा मंत्री अरुण जेटली

‘जहां तक भारत की बात है तो हमारा ऐसा पड़ोसी है जो करीब सात दशकों से लगातार सुरक्षा खतरा बना हुआ है और इसलिए हमारी रक्षा तैयारियों का स्तर हमेशा सर्वोच्च होना चाहिए.’

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
भारत की रक्षा तैयारियां हमेशा सर्वोच्च होनी चाहिए : रक्षा मंत्री अरुण जेटली

रक्षा मंत्री अरुण जेटली (फाइल फोटो)

चित्रदुर्ग (कर्नाटक):

पाकिस्तान के परोक्ष संदर्भ में रक्षा मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि भारत ने करीब 70 साल से सुरक्षा खतरे का निरंतर सामना किया है और इसलिए उसकी रक्षा तैयारियां हमेशा सर्वोच्च होनी चाहिए. स्वदेश में विकसित मानवरहित एवं मानव संचालित विमानों के परीक्षण के लिए यहां पास ही स्थापित देश के पहले ‘ऐरोनॉटिकल टेस्ट रेंज’ का उद्घाटन करते हुए उन्होंने कहा कि भारत भौगोलिक रूप से ऐसी जगह स्थित है जो संकट से मुक्त नहीं है. उन्होंने कहा, ‘जहां तक भारत की बात है तो हमारा ऐसा पड़ोसी है जो करीब सात दशकों से लगातार सुरक्षा खतरा बना हुआ है और इसलिए हमारी रक्षा तैयारियों का स्तर हमेशा सर्वोच्च होना चाहिए.’

टिप्पणियां

उन्होंने कहा कि रक्षा तैयारियों का स्तर हमेशा सर्वोच्च रखने के लिए आपको देश में ही निर्माण के लिए केन्द्रों को स्थापित करने की दिशा में आगे बढ़ने की जरूरत है. जेटली ने कहा कि ऐरोनॉटिकल टेस्ट रेंज देश में अपनी तरह का पहला परीक्षण स्थल है और ऐरोनाटिकल रक्षा तैयारियों से जुड़ी हर चीज का परीक्षण इस क्षेत्र में होगा. यह क्षेत्र बेंगलुरु से करीब 250 किलोमीटर की दूरी पर स्थित चालाकेरे के पास स्थित है.


(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement