NDTV Khabar

नेपाल की स्थिरता और आर्थिक संवृद्धि में निहित भारत का हित : राष्ट्रपति कोविंद

नेपाल के प्रधानमंत्री केपी ओली ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से की मुलाकात, पीएम बनने के बाद पहली बार भारत आए

79 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
नेपाल की स्थिरता और आर्थिक संवृद्धि में निहित भारत का हित : राष्ट्रपति कोविंद

नेपाल के पीएम केपी शर्मा ओली ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात की.

खास बातें

  1. सद्भावना, विश्वास और परस्पर लाभ से संबंध आगे बढ़ाने की कामना
  2. नेपाल के साथ आर्थिक और विकास साझेदारी को महत्व
  3. दोनों देशों के बीच संपर्क बढ़ने से हमारी आर्थिक समृद्धि बढ़ेगी
नई दिल्ली: राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने आज कहा कि नेपाल की प्राथमिकताओं के अनुरूप भारत सहयोग बढ़ाने को तैयार है और उसका हित इस पड़ोसी देश की स्थिरता एवं आर्थिक संवृद्धि में निहित है.

कोविंद ने राष्ट्रपति भवन में नेपाल के प्रधानमंत्री केपी ओली का स्वागत करते हुए कहा कि उन्हें इस बात जिक्र करते हुए खुशी हो रही है नेपाल का प्रधानमंत्री नियुक्त होने के बाद यह उनकी (ओली की) प्रथम विदेश यात्रा है.

राष्ट्रपति भवन के एक बयान में कहा गया है कि राष्ट्रपति ने कहा कि उनके (ओली के) नेतृत्व और भारत-नेपाल साझेदारी को बढ़ाने में योगदान देने को लेकर भारत उनकी सराहना करता है.

यह भी पढ़ें : संयुक्‍त प्रेस कॉन्‍फ्रेंस : पीएम मोदी बोले, काठमांडू को भारत से जोड़ेगी नई रेलवे लाइन

कोविंद ने भरोसा जताया कि ओली के नेतृत्व के तहत नेपाल अपने लोगों के लिए तीव्र सामाजिक - आर्थिक परिवर्तन की शुरुआत करेगा. उन्होंने कहा कि नेपाल की स्थिरता और आर्थिक संवृद्धि में भारत का हित है. उन्होंने कहा ‘‘हम सद्भावना, परस्पर विश्वास और परस्पर लाभ के आधार पर अपने संबंध को आगे बढ़ाने की कामना करते हैं.’’

राष्ट्रपति ने कहा कि भारत नेपाल के साथ अपने आर्थिक और विकास साझेदारी को महत्व देता है.
उन्होंने कहा कि नेपाल की प्राथमिकताओं के अनुरूप भारत सहयोग बढ़ाने को तैयार है. उन्होंने कहा , ‘‘ हमारा मानना है कि हमारे देशों के बीच संपर्क बढ़ने से हमारी आर्थिक समृद्धि बढ़ेगी और हमारे नागरिकों को फायदा होगा. ’’

VIDEO : नेपाल के गुस्से को समझे भारत

टिप्पणियां
उन्होंने कहा कि भारत और नेपाल के बीच दोस्ती का जैसा जुड़ाव और सहयोग है , वैसा दुनिया में किसी और देश के बीच नहीं है. हम न सिर्फ साझा भूगोल बल्कि इतिहास , संस्कृति , सभ्यता और लोगों के बीच तथा पारिवारिक संबंधों के जरिए एक दूसरे से जुड़े हुए हैं. दोनों देशों के बीच उच्चतम राजनीतिक स्तर पर यात्राओं का आदान प्रदान यह जाहिर करता है कि अपनी विशेष साझेदारी को हम कितनी प्राथमिकता देते हैं.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement