NDTV Khabar

भारत का सुपर कंप्‍यूटर 'मिहिर' किसानों की आय दोगुनी करने में करेगा मदद

किसी बैडमिंटन कोर्ट की साइज़ के कमरे रखा गया यह कोई सामान्य कंप्यूटर नहीं है. 450 करोड़ के इस सिस्टम का नाम मिहिर है और ये भारत का सबसे ताकतवर सुपर कंप्यूटर है. बेहतरीन क्वालिटी के ढाई हजार लैपटॉप से भी ज्यादा क्षमता वाला ये सुपर कंप्यूटर मौसम की भविष्यवाणी करने में मददगार होगा.

137 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
भारत का सुपर कंप्‍यूटर 'मिहिर' किसानों की आय दोगुनी करने में करेगा मदद

सुपर कंप्‍यूटर 'मिहिर'

खास बातें

  1. सुपर कंप्यूटर से मौसम का सटीक अंदाजा लगाया जा सकेगा
  2. 450 करोड़ के इस सिस्टम का नाम मिहिर है
  3. यह भारत का सबसे ताकतवर सुपर कंप्यूटर है.
नई दिल्ली: इस बार के बजट में किसानों की आमदनी दोगुनी करने पर खासा जोर दिया गया है, जिसमें मौसम की भविष्यवाणी भी अहम रोल निभाएगी. देश के सबसे ताकतवर क्रे सीरीज के  सुपर-कंप्यूटर मिहिर इसमें खासा मददगार साबित होने वाला है, जिसकी वजह से मौसम का सटीक अंदाजा लगाया जा सकेगा. 

पुणे के पास स्थित टेलीस्‍कोप ने रिसीव किए मंगल ग्रह पर उतरने वाले यूरोपियन यान के आखिरी सिग्‍नल

किसी बैडमिंटन कोर्ट की साइज़ के कमरे रखा गया यह कोई सामान्य कंप्यूटर नहीं है. 450 करोड़ के इस सिस्टम का नाम मिहिर है और ये भारत का सबसे ताकतवर सुपर कंप्यूटर है. बेहतरीन क्वालिटी के ढाई हजार लैपटॉप से भी ज्यादा क्षमता वाला ये सुपर कंप्यूटर मौसम की भविष्यवाणी करने में मददगार होगा.

साइंस मिनिस्‍टर डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि मिहिर का नाम सूर्य भगवान के नाम रखा गया है. इसकी क्षमता और शक्ति से हमे मौसम की सटीक भविष्यवाणी मिलेगी. उन्‍होंने कहा कि भारत अब मौसम, जलवायु समुदाय के लिए समर्पित एचपीसी संसाधनों के लिए जापान, ब्रिटेन और अमेरिका के बाद चौथे स्थान पर होगा.

जमीन के अंदर आधा किलोमीटर नीचे लैब में 'डार्क मैटर' की खोज में जुटे भारतीय वैज्ञानिक

1988 में भारत ने मौसम की भविष्यवाणी के लिए अमेरिका से जिस क्रे-एक्स एमपी सुपर कंप्यूटर का आयात किया था वो अब म्यूजियम का हिस्सा बन चुका है, लेकिन तब अमेरिका ने इस सुपर कंप्यूटर पर इस बात की पहरेदारी लगाई थी कि कहीं भारत इसका इस्तेमाल एटम बम बनाने में ना करे. अब वक्त बदल गया है और भारतीय वैज्ञानिकों के साथ पूरी तरह सहयोग कर साइबर फिजिकल सिस्टम को मजबूत बनाने में जुटा है. उन्‍होंने कहा कि भारत अब मौसम, जलवायु समुदाय के लिए समर्पित एचपीसी संसाधनों के लिए जापान, ब्रिटेन और अमेरिका के बाद चौथे स्थान पर होगा.

यह विशाल क्रे सुपर कंप्यूटर भारत को ब्लॉक स्तर पर मौसम की जानकारियां देगा ताकि किसान उसका भरपूर फायदा उठा सकें.

VIDEO: परमाणु ऊर्जा से बिजली बनाने वाले दुनिया के पहले प्लांट से खास रिपोर्ट
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement