Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

एयरफोर्स के जंगी बेड़े में अब भारत का अपना लड़ाकू विमान 'तेजस' भी शामिल, मिला ऑपरेशनल क्लियरेंस

तेजस जहाज को बुधवार को फाइनल ऑपरेशनल क्लीयरेंस मिल गया है. इसके साथ यह विमान अब भारतीय वायुसेना का हिस्सा होने जा रहा है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
एयरफोर्स के जंगी बेड़े में अब भारत का अपना लड़ाकू विमान 'तेजस' भी शामिल, मिला ऑपरेशनल क्लियरेंस

Tejas Fighter Jet को मिली मंजूरी

नई दिल्ली:

भारत में बने एलसीए तेजस (Tejas Fighter Jet) को फाइनल ऑपरेशनल क्लियरेंस मिल गई है. भारत का हल्का लड़ाकू विमान तेजस एमके आई को बुधवार को अंतिम संचालन मंजूरी (एफओसी) दे दी गई. विमान के लिए एफओसी की औपचारिक घोषणा रक्षा विभाग के आर एंड डी सचिव तथा रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन के अध्यक्ष जी. सतीश रेड्डी ने की. एयरो इंडिया शो के इतर एफओसी प्रमाण पत्र और रिलीज टू सर्विस डॉक्यूमेंट वायुसेना प्रमुख को सौंपा गया. इस दौरान रक्षा सचिव, एचएएल के अध्यक्ष और सेंटर फॉर मिलिट्री एयरवर्दीनेस एंड सर्टिफिकेशन के प्रमुख मौजूद रहे.

तेजस जैसा उन्नत विमान बनाने वाले HAL के पास कर्मचारियों का वेतन देने के लिए पैसे नहीं

तेजस जहाज को बुधवार को फाइनल ऑपरेशनल क्लीयरेंस मिल गया है. इसके साथ यह विमान अब भारतीय वायुसेना का हिस्सा होने जा रहा है. 123 विमानों को क्लीयरेंस दिया गया है. यह सभी विमान देश में बने हैं. एनडीटीवी ने इस हवाई जहाज का डिजाइन तैयार करने वाले जीतेंद्र यादव से बात की. जीतेंद्र यादव ने बताया कि उन्हें इस जहाज के डिजाइन को तैयार करने में 20 साल लगे. उन्होंने कहा यह बेहतरीन लड़ाकू विमान है.


राफेल डील से बाहर हुई HAL तैयार करेगी तेजस का हथियारबंद संस्करण

एक आधिकारिक विज्ञप्ति में बताया गया कि एफओसी में शुरुआती संचालन मंजूरी के अलावा महत्वपूर्ण क्षमताओं में बढ़ोतरी शामिल है. इनमें दृश्यता सीमा के परे मिसाइल क्षमता, हवा में ईंधन भरा जाना, हवा से जमीन पर एफओसी चिह्नित हथियार को निशाना बनाना शामिल है. 

बेंगलुरु में हो रहे एयर शो (एयरो शो) में तेजस ने भी अपने जलवे दिखाए. हालांकि, एयर शो की शुरुआत मंगलवार को हादसे में मारे गए सूर्यकिरण टीम के पायलट विंग कमांडर को श्रद्धांजलि देकर हुई. एयरो इंडिया की शरुआत बुधवार को बेंगलुरु के यलहंका एयरफोर्स बेस पर हुई. सूर्यकिरण के पायलट विंग कमांडर साहिल गांधी को श्रद्धांजलि देने के लिए जैगुआर, तेजस और सुखोइ तीनों लड़ाकू विमानों ने एक साथ धीमी रफ्तार में काफी नीचे उड़ान भरी. इसके बाद राफ़ेल के पायलट ने एलान किया कि वो भी श्रद्धांजलि के लिए नीचे उड़ान भरेगा. 

हवा में उड़ते हुए तेजस लड़ाकू विमान में भरा गया ईंधन, भारत की बड़ी सफलता

टिप्पणियां

HAL के चीफ मैनेजिंग डायरेक्टर ने कहा कि हम खुश हैं. जो आर्डर है वो हम टाइम पर पूरा करेंगे. तेजस को डिज़ाइन करने वाले drdo के इंजीनियर डॉ कोटा हरिनारायण ने कहा कि हम भी काफी खुश हैं कि देसी इंजीनियरों की सोच रंग लाई है. 

VIDEO: एयरफोर्स में तेजस को मिली मंजूरी



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... जन्म के बाद डॉक्टर ने मारा तो गुस्से से देखने लगी बच्ची, सोशल मीडिया पर हुई Memes की बरसात

Advertisement