इंडिगो एयरलाइन का लॉकडाउन के बाद का प्‍लान, 'खूब सफाई, मील सर्विस पर रोक और यात्रियों के बीच पर्याप्‍त दूरी.. '

कोरोना वायरस के महामारी के बीच देश में 14 अप्रैल तक जारी लॉकडाउन के बीच डोमिस्टिक कैरियर इंडिगो ने कहा है कि वह अपने विमानों को लगातार सैनि‍टाइज करेगी और इन-फ्लाइट-मील सर्विस को फिलहाल बंद रखेगी.

इंडिगो एयरलाइन का लॉकडाउन के बाद का प्‍लान, 'खूब सफाई, मील सर्विस पर रोक और यात्रियों के बीच पर्याप्‍त दूरी.. '

इंडिगो ने कहा है कि वह अपने विमानों को लगातार सैनि‍टाइज करेगाा और मील सर्विस को फिलहाल बंद रखेगा

नई द:

कोरोनावायरस महामारी के बीच देश में 14 अप्रैल तक जारी लॉकडाउन के दौरान घरेलू कैरियर इंडिगो ने कहा है कि वह अपने विमानों को लगातार सैनि‍टाइज़ करेगी और इन-फ्लाइट-मील सर्विस को फिलहाल बंद रखेगी. कोरोनावायरस के संक्रमण पर रोक के लिए लगाए गए 21 दिन के लॉकडाउन को हटाए जाने की संभावनाओं के बीच एयरलाइन का यह बयान सामने आया है. एयरलाइन टर्मिनलों से विमानों तक यात्रियों को लाने के लिए इस्तेमाल की जा रही बसों को भी क्षमता से आधा ही भरेंगी.. 

एयरलाइन के CEO रंजय दत्ता ने कर्मचारियों को भेजे एक ई-मेल में कहा, "हम हमेशा सेहत के प्रति सचेत रहे हैं. अब हमें स्वास्थ्य के प्रति भी सचेत रहना चाहिए. इसके साथ ही हम अपनी ऑपरेशनल प्रक्रिया को बदल रहे हैं." जिन बदलावों को अमल में लाया जाएगा उसमें विमानों को लगातार सेनिटाइज करना, मील सर्विस पर रोक लगाना और सोशल डिस्‍टेंसिंग का ध्‍यान रखते हुए यात्रियों की संख्‍या को सीमित रखना शामिल है. दत्‍ता ने कहा कि मौजूदा परिस्थितियों में हमारा ध्‍यान कैश फ्लो पर हैं. हमारा ध्‍यान अपनी फिक्‍स्‍ड कॉस्‍ट पर है और इसे कम करने के तरीके तलाश रहे हैं. गौरतलब है कि COVID-19 के प्रकोप और उसके बाद के लॉकडाउन से भारत का विमानन क्षेत्र सबसे बुरी तरह प्रभावित हुआ है. देश में घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों के संचालन को 14 अप्रैल तक निलंबित कर दिया गया है. हालांकि इस बात की संभावना नहीं के बराबर है कि 25 मार्च से शुरू हुआ 21 दिन का लॉकडाउन पूरी तरह से हटा लिया जाएगा क्‍योंकि पीएम नरेंद्र मोदी ने विपक्षी नेताओं के साथ वीडियो कॉन्‍फ्रेसिंग के जरिये बातचीत के बाद कहा था कि मौजूदा परिस्थितियों में लॉकडाउन को हटाना संभव नहीं है.

ऑल पार्टी मीट में जिन नेताओं ने भाग लिया था उनके अनुसार, पीएम ने कहा था कि सरकार की प्राथमिकता अभी हर शख्‍स के जीवन की सुरक्षा करता है. देश में स्थिति सोशल इमरजेंसी की तरह है. उन्‍होंने कहा था कि कोविड-19 के बाद जिंदगी पहले जैसी नहीं रह जाएगी और लोगों को व्‍यवहारगत, सामजिक और व्‍यक्तिगत व्‍यवहार में बदलावों को अमल में लाना होगा.

Newsbeep

वैसे, सूत्रों से प्राप्‍त जानकारी के अनुसार, लंबे लॉकडाउसन के कारण आर्थिक मंदी के चलते कुछ खास सेक्‍टरों को सोशल डिस्‍टेंसिंग के मानदंडों का पालन करते हुए रियायत दी जा सकती है. उड्डयन क्षेत्र इस मामले में सबसे ज्‍यादा प्रभावित है. सूत्रों ने बताया कि सभी क्‍लासेस में बीच की सीट खाली रखने के नियम के साथ एयरलाइंस से उड़ान शुरू करने की इजाजत दी जा सकती है. 

VIDEO: पीएम की ओर से खातों में पैसे, लॉकडाउन में 500 रुपये की मदद

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com