NDTV Khabar

Indigo की यात्री सेवाएं सबसे खराब, यात्रा-सामान नीति में Air India सबसे अच्छा

संसद की एक समिति (Parliamentary Panel) का मानना है कि विमान यात्रियों के लिए निजी क्षेत्र की एयरलाइन इंडिगो (Indigo Airlines) का प्रदर्शन सबसे 'खराब' है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Indigo की यात्री सेवाएं सबसे खराब, यात्रा-सामान नीति में Air India सबसे अच्छा

संसदीय समिति ने माना Indigo की यात्री सेवाएं सबसे खराब.

खास बातें

  1. Indigo की यात्री सेवाएं सबसे खराब
  2. यात्रा-सामान नीति में एयर इंडिया सबसे अच्छा
  3. संसदीय समिति की ताजा रिपोर्ट से खुलासा
नई दिल्ली:

संसद की एक समिति (Parliamentary Panel) का मानना है कि विमान यात्रियों के लिए निजी क्षेत्र की एयरलाइन इंडिगो (Indigo Airlines) का प्रदर्शन सबसे 'खराब' है. वहीं, एयर इंडिया (Air India) की यात्री-सामान नीति सबसे अच्छी है. पर्यटन, संस्कृति, सड़क, जहाजरानी और विमानन से जुड़ी संसद की स्थाई समिति की इन विषयों पर ताजा रिपोर्ट की जानकारी देते हुए तृणमूल कांग्रेस के सदस्य और समिति के अध्यक्ष डेरेक ओ-ब्रायन ने गुरुवार को कहा कि त्योहारों के मौसम में कुछ एयरलाइनों द्वारा सामान्य किराये से 8-10 गुना अधिक किराया लिये जाने को समिति ने गंभीरता से लिया है. समिति की संसद में हाल में प्रस्तुत की गई.

यह भी पढ़ें:  इंडिगो फ्लाइट के टॉयलेट में स्मोकिंग करते पकड़ा गया यात्री, गोवा में लैंड करते ही हिरासत में


ओ-ब्रायन ने कहा, 'इस बात को लेकर हमारी समिति बिल्कुल स्पष्ट है कि यात्रियों के लिए इंडिगो सबसे खराब एयरलाइन है. सभी 30 सदस्य इस बात को लेकर सहमत हैं. कई शिकायतों के बावजूद इंडिगो ने उन पर गौर नहीं किया. ग्राहकों से व्यवहार एवं सामान का वजन केवल एक से दो किलोग्राम अधिक होने पर जिस तरह वे शुल्क वसूलते हैं.' उन्होंने कहा, 'समिति का हर सदस्य कुछ निजी एयरलाइनों के परिचालन के तरीके से निराश है, लेकिन इंडिगो के मामले में कुछ ज्यादा निराश है. वह एयरलाइन बहुत अशिष्ट है. एयरलाइन का रुख बहुत हठी है और कई बार वह सामान का वजन एक से दो किलोग्राम अधिक होने पर भी शुल्क वसूलते हैं. समिति इससे नाखुश है और उसने मामले को गंभीरता से लिया है.'

यह भी पढ़ें:  यात्रियों की नाराजगी बढ़ने पर इंडिगो की सफाई, वेब सीट बुकिंग पर लगेगा पैसा, न कि वेब चेक-इन पर

ओ-ब्रायन ने कहा कि यह केवल उनके विचार नहीं है, बल्कि समिति के सभी सदस्यों की राय भी कुछ इसी प्रकार की है. बता दें कि समिति में विभिन्न दलों के सदस्य शामिल हैं. तृणमूल नेता ने कहा कि विमानन क्षेत्र में कई तरह की समस्याएं हैं. उन्होंने कहा, 'समिति ने सिफारिश की है कि टिकट को रद्द कराने का शुल्क मूल किराये का 50 प्रतिशत से अधिक नहीं होना चाहिए. कर और ईंधन अधिभार यात्रियों को वापस किया जाना चाहिए. एयरलाइन बहुत अधिक धन वसूल रहे हैं.' सामान से जुड़ी नीति के बारे में कहा कि सरकारी एयरलाइन की इससे जुड़ी नीति सबसे अच्छी है और अन्य विमानन कंपनियों को भी सामान की सीमा बढ़ानी चाहिए. 

टिप्पणियां

VIDEO: इंडिगो एयरलाइंस ने घटना पर माफ़ी मांगी

(इनपुट: भाषा)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement