यह ख़बर 06 जनवरी, 2013 को प्रकाशित हुई थी

इंदिरा के हत्यारों को अकाल तख्त ने किया सम्मानित

इंदिरा के हत्यारों को अकाल तख्त ने किया सम्मानित

खास बातें

  • सिख धर्म की सर्वोच्च संस्था अकाल तख्त ने सत्तारूढ़ शिरोमणि अकाली दल के एक नेता की मौजूदगी में पूर्व प्रधानमंत्री के दो हत्यारों को उनकी 24वीं बरसी पर सम्मानित किया।
अमृतसर:

सिख धर्म की सर्वोच्च संस्था अकाल तख्त ने सत्तारूढ़ शिरोमणि अकाली दल के एक नेता की मौजूदगी में पूर्व प्रधानमंत्री के दो हत्यारों को उनकी 24वीं बरसी पर सम्मानित किया।

गौरतलब है कि साल 1984 में इंदिरा गांधी की हत्या करने वाले सतवंत सिंह और केहर सिंह को छह जनवरी 1989 को फांसी दे दी गई थी।

शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक समिति की ओर से आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान जत्थेदार ज्ञानी गुरबचन सिंह ने सतवंत सिंह के पिता त्रिलोक सिंह को एक ‘सिरोपा’ भेंट किया।

जत्थेदार ने गांधी के हत्यारों को ‘आस्था के शूरवीर’ भी करार दिया।

शिरोमणि अकाली दल की अमृतसर इकाई के अध्यक्ष और पूर्व सांसद सिमरनजीत सिंह मान और सिख कट्टरपंथी संगठन ‘दल खालसा’ के नेता कंवर पाल सिंह भी इस मौके पर मौजूद थे।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

बहरहाल, एसजीपीसी अध्यक्ष अवतार सिंह मक्कड़ इस मौके पर मौजूद नहीं थे। इस कार्यक्रम में कोई भाषण तो नहीं दिया गया लेकिन ‘अरदास’ जरूर हुई।

इस मौके पर संवाददाताओं से बातचीत में कंवर पाल सिंह ने कहा, ‘इस दिन हम उन्हें श्रद्धांजलि देते हैं। सिखों को उनपर गर्व है और हम उनकी शहादत का पूरा सम्मान करते हैं।’