NDTV Khabar

अंतरि‍क्ष विज्ञान की दुनिया में इतिहास रचने वाले इसरो (ISRO) से जुड़ीं 10 खास बातें, सवाल और उनके जवाब

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
अंतरि‍क्ष विज्ञान की दुनिया में इतिहास रचने वाले इसरो (ISRO) से जुड़ीं 10 खास बातें, सवाल और उनके जवाब

इसरो ने मेगा मिशन के तहत PSLV के जरिए एक साथ 104 सैटेलाइट का सफल लॉन्च कर विश्व रिकॉर्ड कायम किया. (फाइल फोटो)

नई दिल्‍ली:

अंतरि‍क्ष विज्ञान की दुनिया में भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने बुधवार को दुनियाभर में एक नया इतिहास रच दिया. इतिहास ऐसा कि अन्‍य विकसित देश भी इसरो की इस सफलता से आश्‍चर्यचकित हैं. दरअसल, इसरो ने मेगा मिशन के तहत PSLV के जरिए एक साथ 104 सैटेलाइट का सफल लॉन्च कर विश्व रिकॉर्ड कायम किया. अभी तक यह रिकार्ड रूस के नाम था, जो साल 2014 में 37 सैटेलाइट एक साथ भेजने में कामयाब रहा था. इस लॉन्च में जो 101 छोटे सैटेलाइट्स हैं, उनका वजन 664 किलो ग्राम था.

इसरो के इस विश्‍व रिकॉर्ड के बीच आइये जानिए इस संगठन से जुड़े कुछ ऐसे रोचक तथ्‍य, सवाल और उनके जवाब जो लोगों द्वारा अक्‍सर पूछे जाते रहे हैं...

1. इसरो का पूरा नाम क्या है. इसका गठन कब हुआ?
इसरो का पूरा नाम है भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन. इसरो का गठन 15 अगस्त, 1969 को हुआ था.


2. भारतीय अंतरिक्ष कार्यक्रम का 'संस्थापक जनक' किसे माना जाता है?
डॉ.विक्रम ए. साराभाई को भारत में अंतरिक्ष कार्यक्रमों का संस्थापक जनक माना जाता है.

3. अंतरिक्ष विभाग का गठन कब हुआ था?
अंतरिक्ष विभाग और अंतरिक्ष आयोग को सन् 1972 में स्‍थापित किया गया. 01 जून, 1972 में इसरो को अंतरिक्ष विभाग के अंदर शामिल किया गया.

4. इसरो का प्रमुख उद्देश्य क्या है...  इन उद्देश्यों की पूर्ति कैसे की जाती है?
इसरो का प्रमुख उद्देश्य अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी का विकास तथा विभिन्न राष्ट्रीय आवश्यकताओं में उनका उपयोग करना है. इसरो ने दो प्रमुख अंतरिक्ष प्रणालियों की स्थापना की है, संचार, दूरदर्शन प्रसारण तथा मौसम-विज्ञान सेवाओं के लिए इन्सैट और संसाधन मॉनिटरन और प्रबंधन के लिए भारतीय सुदूर संवेदन उपग्रह (आईआरएस) प्रणाली. इसरो ने अभीष्ट कक्ष में इन्सैट और आईआरएस की स्थापना के लिए दो उपग्रह प्रमोचन यान, पीएसएलवी और जीएसएलवी विकसित किए हैं.

5. उपग्रह कहां बनाए जाते हैं?
उपग्रहों को इसरो उपग्रह केंद्र (आईजैक) में बनाया जाता है.

6. भारत में अंतरिक्ष कार्यक्रम की शुरुआत कहां हुई?
भारतीय अंतरिक्ष कार्यक्रम की शुरुआत तिरुवनंतपुरम के निकट थुम्बाभूमध्यरेखीयराकेट लॉन्चिंग स्‍टेशन (टर्ल्स) में हुई.

7. पहले भारतीय उपग्रह का नाम क्या था?
पहले भारतीय उपग्रह का नाम आर्यभट्ट था.

8. चंद्रयान-1 क्या है?
चंद्रयान-1 अंतरिक्ष-यान द्वारा-चंद्रमा का वैज्ञानिक अन्वेषण है. भारतीय भाषाओं (संस्कृत और हिन्दी) में- चंद्रयान का मतलब है 'चंद्र अर्थात चंद्रमा, यान अर्थात वाहन' यानि, चंद्रमा अंतरिक्ष-यान. चंद्रयान-1 प्रथम भारतीय ग्रहीय विज्ञान और अन्वेषण मिशन है.

टिप्पणियां

9. चंद्रमा का तापमान कितना है?
चंद्रमा पर तापमान चरम सीमाओं पर पहुंच जाता है– सूरज की रोशनी में प्रकाशित चंद्रमा का पहलू लगभग 130ºसें तक झुलसाने जितना गरम हो जाता है, और रात में यही पहलू -180 ºसें. पर अत्यधिक ठंडा हो जाता है.

10. हम चंद्रमा का केवल एक पहलू ही क्यों देख पाते हैं?
परिक्रमा करते हुए चंद्रमा पृथ्वी को हमेशा अपना एक पहलू ही दर्शाता है. यह इसलिए है कि पृथ्वी के गुरुत्वाकर्षण ने चंद्रमा के नियमित प्रचक्रण की गति इतनी कम कर दी कि वह उसके पृथ्वी की परिक्रमा के समय के बराबर हो गया. अतः चंद्रमा को पृथ्वी के चारों ओर घूमने में उतना ही समय लगता है जितना कि उसे अपने अक्ष पर घूमने में लगता है.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement