नौसेना के युद्धपोत से मालदीव से भारत लाए जा रहे हैं नागरिक, कैसा है INS जलाश्व पर इंतजाम, देखिए VIDEO

आईएनएस जलाश्व अंदर से कैसा दिखता है और उसमें नागरिकों के लिए क्या खास तैयारियां की गई हैं, 'पीआरओ डिफेंस' के ट्विटर हैंडल से इसके वीडियो शेयर किए गए हैं.

नौसेना के युद्धपोत से मालदीव से भारत लाए जा रहे हैं नागरिक, कैसा है INS जलाश्व पर इंतजाम, देखिए VIDEO

INS जलाश्व में भारतीय नागरिकों के लिए खास इंतजाम किए गए हैं.

खास बातें

  • फंसे नागरिकों को लाने को चलाए जा रहे ऑपरेशन
  • भारतीय नौसेना ने चलाया ऑपरेशन 'समुद्र सेतु'
  • INS जलाश्व से भारत लौटेंगे करीब 1000 नागरिक
नई दिल्ली:

कोरोनावायरस (Coronavirus) के चलते दुनियाभर के कई देशों में लॉकडाउन (Lockdown) लगाया गया है. भारत में लॉकडाउन का तीसरा चरण चल रहा है. भारत सरकार अन्य राज्यों में फंसे हुए लोगों को उनके गृहराज्यों तक पहुंचाने के लिए स्पेशल ट्रेनें चला रही है. इतना ही नहीं, सरकार ने दूसरे देशों में फंसे हुए भारतीयों को भी वापस लाने के लिए मिशन 'वंदे भारत' और ऑपरेशन 'समुद्र सेतु' चलाया है. भारतीय नौसेना का आईएनएस जलाश्व (INS Jalashwa) ऑपरेशन 'समुद्र सेतु' के तहत मालदीव में फंसे हुए नागरिकों को लेकर भारत लौटने के लिए तैयार है. आईएनएस जलाश्व अंदर से कैसा दिखता है और उसमें नागरिकों के लिए क्या खास तैयारियां की गई हैं, 'पीआरओ डिफेंस' के ट्विटर हैंडल से इसके वीडियो शेयर किए गए हैं.

आईएनएस जलाश्व को अंदर से भी लगातार सैनिटाइज किया जा रहा है. पोत में नागरिकों के लिए रहने की दुरुस्त व्यवस्था, साफ-सुथरे बेड, खाने-पीने का सामान व अन्य सुविधाओं का भी खास ख्याल रखा गया है. मालदीव के माले से सभी को केरल के कोच्चि लाया जाएगा. वहां उनकी स्क्रीनिंग की जाएगी.

कई अन्य वीडियो में कोरोनावायरस प्रोटोकॉल के तहत मालदीव के एमिग्रेशन काउंटर पर भारतीय नागरिक अपनी बारी का इंतजार करते दिख रहे हैं. वीडियो में साफ नजर आ रहा है कि भारत सरकार के यह मिशन सावधानी को ध्यान में रखते हुए पूरे किए जा रहे हैं. पोत पर तैनात कर्मियों को पीपीई सूट दिए गए हैं.

नौसेना का वॉरशिप आईएनएस जलाश्व गुरुवार को माले पहुंच गया था. पोत एक बार में 1000 लोगों को भारत ला सकता है. सभी लोग कोरोना के चलते लॉकडाउन की वजह से मालदीव में फंसे हुए थे. आईएनएस जलाश्व आज (शुक्रवार) सभी भारतीयों को लेकर कोच्चि के लिए निकलेगा.

मालदीव से भारत लौटने के लिए अभी तक 732 भारतीय नागरिकों ने रजिस्ट्रेशन कराया है. रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया जारी है. विभाग ने जानकारी दी है कि आज लाए जा रहे नागरिकों में से 19 गर्भवती महिलाएं हैं और 14 बच्चे हैं. रक्षा मंत्रालय खुद इन ऑपरेशंस पर बारीकी से नजर रख रहा है. आईएनएस मगर भी भारतीय नागरिकों को देश लाने के लिए मालदीव जा रहा है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO: कोरोनावायरस वैक्सीन कार्यक्रम की प्रगति को लेकर PM मोदी की अहम बैठक