NDTV Khabar

वर्ष 2017-2018 में भारत में सबसे अधिक संख्या में इंटरनेट सेवा बाधित हुई : यूनेस्को रिपोर्ट

यूनेस्को की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि दक्षिण एशियाई देशों के लोगों के सामने मई 2017 से अप्रैल 2018 के बीच इंटरनेट बंद होने की कम से कम 97 घटनाएं हुयीं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
वर्ष 2017-2018 में भारत में सबसे अधिक संख्या में इंटरनेट सेवा बाधित हुई : यूनेस्को रिपोर्ट

प्रतीकात्मक फोटो

खास बातें

  1. वर्ष 2017-2018 में भारत में सबसे अधिक संख्या में इंटरनेट सेवा बाधित हुई
  2. मई 2017 से अप्रैल 2018 के बीच इंटरनेट बंद होने की 97 घटनाएं हुयीं
  3. अकेले भारत में ऐसे 82 मामले आये
नई दिल्ली:

यूनेस्को की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि दक्षिण एशियाई देशों के लोगों के सामने मई 2017 से अप्रैल 2018 के बीच इंटरनेट बंद होने की कम से कम 97 घटनाएं हुयीं. अकेले भारत में ऐसे 82 मामले आये. ‘ यूनेस्को इंटरनेशनल फेडरेशन आफ जर्नलिस्ट ’ की ओर से हाल में जारी ‘ क्लैंपटाउंस एंड करेज साउथ एशिया प्रेस फ्रीडम रिपोर्ट 2017..2018’ के अनुसार पाकिस्तान में इंटरनेट सेवा बंद होने की 12 घटनाएं हुईं. जबकि अफगानिस्तान , बांग्लादेश और श्रीलंका में ऐसी एक-एक घटनाएं हुईं. 

यह भी पढ़ें: यूनेस्को की सांस्कृतिक धरोहर की सूची में कुंभ मेला शामिल, मंत्री ने गौरव का क्षण बताया

टिप्पणियां

रिपोर्ट में कहा, ‘‘ इंटरनेट सेवा बंद होने और इंटरनेट स्पीड को जानबूझकर धीमा करने की घटनाएं विश्व भर में बढ रही हैं और यह प्रेस की स्वतंत्रता और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता नियंत्रण का पैमाना है. वैश्विक स्तर पर दक्षिण एशिया में इंटरनेट स्पीड धीमी होने के सबसे अधिक मामले सामने आये. 


VIDEO: पुरानी दिल्ली की एक हवेली को यूनेस्को ने दिया सम्मान
वहीं, भारत में इंटरनेट सेवा बंद करने के सबसे अधिक मामले हुए.’’



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement