NDTV Khabar

नीरव मोदी की बहन भी निकली शातिर, मोटा पैसा लेकर भाई का काला धन कराया सफेद

काला धन सफेद कराने में नीरव मोदी का साथ उसकी बहन पूर्वी मोदी ने भी बढ़चढ़कर दिया. बदले में मोटा हिस्सा लिया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
नीरव मोदी की बहन भी निकली शातिर, मोटा पैसा लेकर भाई का काला धन कराया सफेद

नीरव मोदी की बहन पूर्वी मोदी के खिलाफ जारी हुई इंटरपोल नोटिस.

खास बातें

  1. नीरव मोदी की बहन पूर्वी मोदी के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट
  2. मनी लांड्रिंग केस में इंटरपोक की नोटिस जारी
  3. भाई का काला धन सफेद करने के बदले में कमाया मोटा पैसा
पीएनबी घोटाला कर देश से फरार हुए हीरा कारोबारी नीरव मोदी की बहन भी शातिर निकली. उसने मोटा हिस्सा लेकर भाई नीरव के कालेधन को सफेद कराया.नीरव मोदी की बहन पूर्वी दीपक मोदी कई फर्जी कंपनियों की मालकिन और निदेशक थीं, जिसका उद्देश्य मनी लांड्रिंग यानी कालेधन को सफेद करना था. इस काम के दौरान बहन को भी खासा फायदा हुआ. खुद ईडी के एक अफसर ने इसकी पुष्टि की.इंटरपोल ने उसके खिलाफ 13,500 करोड़ रुपये के पंजाब नेशनल बैंक घोटाले मामले में सोमवार को नोटिस जारी किया है. इस मामले में नीरव मोदी मुख्य आरोपी है.प्रवर्तन निदेशालय(ईडी) के एक अधिकारी ने नाम उजागर न करने की शर्त पर कहा, "पूर्वी मोदी ने पीएनबी घोटाले के जरिए किए जाने वाले अपराध के दौरान धनशोधन(मनी लांड्रिंग) करने में बड़ी भूमिका निभाई. उसे घोटाले की राशि का लगभग 13.3 करोड़ डॉलर का फायदा हुआ."

PNB घोटाला: CBI ने नीरव मोदी के भाई नीशाल के प्रत्यर्पण की प्रक्रिया शुरू की

उन्होंने कहा, "वह कंपनियों के जरिए अपराध की प्रक्रिया के दौरान मनी लांड्रिंग करने वाली कंपनियों की निदेशक थी. कंपनी का नाम फाइन क्लासिक एफजीई(यूएई), लिली माउंटेन इंवेस्टमेंट, प्रिस्टन होल्डिंग लिमिटेड, नोवेलार इंटरनेशनल होल्डिंग्स लिमिटेड, इस्लंगटन इंटरनेशनल होल्डिंग्स प्राइवेट लिमिटेड और बेलवेडरे ग्रुप होल्डिंग्स है."

पीएनबी घोटाला : ब्रिटेन में छुपा है भगोड़ा नीरव मोदी, CBI ने दी प्रत्यर्पण की अर्जी

अधिकारी ने कहा, "इन कंपनियों में आपराधिक तरीके से इकट्ठे किए गए धन को बहुत ही जटिल तरीके से प्रबंधित किया गया था." प्रवर्तन निदेशालय के अधिकारी ने यह बयान इंटरपोल द्वारा पूर्वी मोदी के खिलाफ धनशोधन मामले में रेड कार्नर नोटिस जारी करने के तुरंत बाद दिया है। निदेशालय ने इंटरपोल से यह आग्रह किया था.अगस्त में, मुंबई की एक विशेष अदालत ने नीरव मोदी की बहन पूर्वी और भाई निशल को अदालत के समक्ष 25 सितंबर तक पेश होने के लिए समन जारी किया था. दोनों बेल्जियम के नागरिक हैं.

PNB स्कैम: बिना रेड कॉर्नर नोटिस के भी मेहुल चोकसी का हो सकता है प्रत्यर्पण

टिप्पणियां
अदालत ने यह भी कहा था कि अगर दोनों अदालत के समक्ष पेश होने में विफल रहते हैं तो नए भगोड़ा अपराधी अधिनियम के तहत उनकी संपत्ति जब्त की जा सकती है.इंटरपोल ने बीते सप्ताह नीरव मोदी के करीबी सहयोगी मिहिर भंसाली के विरुद्ध इसी मामले में रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया था.ईडी ने खुलासा किया कि पूर्वी के नाम और उनके कंपनियों के नाम से बारबाडोस, मॉरीशस, स्विट्जरलैंड, सिंगापुर, ब्रिटेन और हांगकांग जैसे देश में बैंक खाते खोले गए.उन्होंने कहा, "पीएनबी से गबन किए गए 500 करोड़ रुपये की राशि उपर्युक्त कंपनियों के माध्यम से विदेश प्रत्यक्ष निवेश(एफडीआई) के जरिए फायरस्टार इंडिया में निवेश किए गए." धनशोधन( मनी लांड्रिंग) करने के अलावा, पूर्वी मोदी ने अपने स्वामित्व वाले फर्जी कंपनियों के नाम पर विदेशों में संपत्तियां भी खरीदी.(इनपुट-IANS से)

वीडियो-मेहुल चोकसी पर एंटिगुआ की सफाई- भारत सरकार की मंजूरी के बाद दी नागरिकता 

 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement