गुजरात पुलिस की अपील पर रेप आरोपी नित्यानंद के खिलाफ इंटरपोल नोटिस जारी

गुजरात पुलिस की अपील पर रेप आरोपी नित्यानंद के खिलाफ इंटरपोल नोटिस जारी

गुजरात पुलिस की अपील पर रेप आरोपी नित्यानंद के खिलाफ इंटरपोल नोटिस जारी

रेप आरोपी नित्यानंद

लखनऊ:

रेप और अपहरण के आरोपी नित्यानंद के खिलाफ गुजरात पुलिस की अपील पर बुधवार को इंटरपोल ने नोटिस जारी किया है. रेप और अपहरण के आरोप लगने के बाद नित्यानंद पिछले साल भारत छोड़कर भाग गए थे. नित्यानंद को ढूंढ़ने, उसकी पहचान करने और उससे जुड़ी जानकारी हासिल करने के लिए गुजरात पुलिस की अपील पर ब्लू कॉर्नर नोटिस जारी किया गया है. बता दें कि देश से भागने के बाद नित्यानंद का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा था. जिसमें वह कह रहा था कि उसे कोई भी नहीं छू सकता है और न कोई अदालत उस पर मुकदमा चला सकती है. वीडियो में वो खुद को परमेश्वर और शिव बता रहा है. मालूम हो नित्यानंद बच्चों के अपहरण और अहमदाबाद के अपने आश्रम में उन्हें बंधक बनाने के मामले में गुजरात पुलिस का वांछित था. 

वीडियो में नित्यानंद कहता था कि पूरी दुनिया मेरे खिलाफ है. मैं कहता हूं नित्यानंद से मत उलझो. लेकिन अगर तुम यहां होकर मुझे अपनी निष्ठा दिखाते हो तो मैं तुम्हें वास्तविकता और सच्चाई का खुलासा करके अपनी निष्ठा दिखाऊंगा. अब मुझे कोई भी छू नहीं सकता.- मैं परम शिव हूं. समझे. सच का खुलासा करने के लिए कोई बेवकूफ अदालत मुझ पर मुकदमा नहीं कर सकती. मैं परम शिव हूं.

नित्यानंद के आश्रम से लापता बहनों ने कहा- पिता से जान का खतरा, अमेरिका या वेस्टइंडीज से हो सकती हैं पेश

खबरें ऐसी हैं कि नित्यानंद देश छोड़कर भाग गया था और उसने लैटिन अमेरिका के इक्वेडोर में एक द्वीप खरीदकर उसे एक संप्रभु हिंदु राष्ट्र घोषित कर दिया है. इसका नाम उसने 'कैलासा' रखा है. इसकी वेबसाइट भी है और बाकायदा पासपोर्ट भी जारी किया गया है. इस बीच भारतीय विदेश मंत्रालय ने नित्यानंद का पासपोर्ट भी रद्द कर दिया था और अपने सभी विदेशी दूतावासों को उसके आवाजाही पर नजर रखने के लिए 'अवगत' करा दिया है. इक्वाडोर सरकार ने भी इस बात की पुष्टि की है नित्यानंद उसके देश में नहीं है और न ही दक्षिण अमेरिकी देश में जमीन खरीदने में उसे किसी भी तरह की मदद की गई है. 

नित्यानंद के आश्रम से बचाई गई किशोरी ने बताए हैरान करने वाली सच्चाई, कहा- 'आधी रात में बनवाए जाते थे VIDEO'

बता दें  नित्यानंद का असली नाम राजशेखरन है और वह तमिलनाडु का रहने वाला है. उसने 2000 की शुरुआत में बेंगलुरू के पास एक आश्रम खोला था. कहा जाता है कि उसकी 'शिक्षाएं' ओशो रजनीश की शिक्षाओं पर आधारित होती हैं. रपटों के अनुसार, नित्यानंद के खिलाफ फ्रांस के अधिकारी भी चार लाख डॉलर के कथित धोखाधड़ी मामले में जांच कर रहे हैं. बीते महीने, नित्यानंद के खिलाफ उसके अहमदाबाद स्थित आश्रम से दो लड़कियों के लापता होने के संबंध में एफआईआर दर्ज कराई गई थी.

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com