NDTV Khabar

पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम बोले- 'जेल से निकलकर खुली हवा में सांस ली तो सबसे पहले...'

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम (P Chidambaram) ने गुरुवार को कहा कि जब उन्होंने कल रात खुली हवा में सांस ली तो उन्हें सबसे पहले कश्मीर घाटी के 75 लाख लोगों की याद आई, जिन्हें चार अगस्त से मौलिक आजादी से वंचित किया गया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम बोले- 'जेल से निकलकर खुली हवा में सांस ली तो सबसे पहले...'

INX मीडिया केस में 106 दिन बाद बुधवार को पी चिदंबरम को मिली थी जमानत.

खास बातें

  1. 106 दिन बाद बुधवार को जेल से रिहा हुए चिदंबरम
  2. गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सरकार की आलोचना की
  3. कहा- सबसे पहले आई जम्मू कश्मीर के लोगों की याद
नई दिल्ली:

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम (P Chidambaram) ने गुरुवार को कहा कि जब उन्होंने कल रात खुली हवा में सांस ली तो उन्हें सबसे पहले कश्मीर घाटी के 75 लाख लोगों की याद आई, जिन्हें चार अगस्त से मौलिक आजादी से वंचित किया गया है. चिदंबरम ने जम्मू कश्मीर में हालात पर मोदी सरकार की आलोचना करते हुए कहा कि 'बिना सोचे-समझे, गलत आधार पर और बदनीयत से' इसे अंजाम दिया गया और वहां के लोगों की मौलिक आजादी का हनन किया गया. पूर्व गृह मंत्री ने कहा, 'कल जब मैं रात आठ बजे बाहर निकला और खुली हवा में सांस ली तो सबसे पहले मुझे कश्मीर घाटी के 75 लाख लोगों की याद आई और मैंने उनके लिए दुआएं की, जिन्हें चार अगस्त के बाद से उनकी मौलिक आजादी से वंचित किया गया.'

देश की अर्थव्यवस्था को लेकर पी चिदंबरम का मोदी सरकार पर हमला- 'सौभाग्यशाली होंगे कि साल के अंत तक...'


उन्होंने कहा कि कि अगर सरकार इजाजत देती है तो वह जम्मू कश्मीर जाना चाहेंगे. वह संविधान के अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधानों को निरस्त किए जाने और जम्मू कश्मीर को दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांटने का जिक्र कर रहे थे. चिदंबरम ने कहा, 'मैं विशेषकर नेताओं के बारे में चिंतित हूं जिन्हें बिना किसी आरोपों के हिरासत में रखा गया. स्वतंत्रता अविभाज्य है. अगर हमें अपनी स्वतंत्रता बचाए रखना है, तो हमें उनकी स्वतंत्रता के लिए लड़ना चाहिए.'

केंद्रीय मंत्री गडकरी बोले- BJP बदले की भावना से काम नहीं करती, चिदंबरम ने मेरे और PM मोदी के खिलाफ किए थे झूठे केस

कश्मीर और अर्थव्यवस्था के मुद्दे को लेकर सरकार के आश्वासन के संबंध में क्या कोई तुलना हो सकती है, इस पर उन्होंने कहा कि जहां तक अर्थव्यवस्था की बात है उसकी वजह अक्षमता है, जबकि कश्मीर के पीछे की वजह सरकार का अहंकार है. उन्होंने कहा, 'जहां तक अर्थव्यवस्था की बात है, उसका कारण अक्षमता है. जहां तक कश्मीर का सवाल है तो इसके पीछे की वजह अहंकार है. कश्मीर में बिना सोचे-समझे, गलत आधार से और बदनीयत वाली नीति से लोगों की मौलिक स्वतंत्रता का दमन किया गया। अर्थव्यवस्था के मामले में इसका सामान्य कारण अज्ञानता और अक्षमता है.'

टिप्पणियां

BJP का कांग्रेस पर तंज, कहा- कुछ लोग जेल से आ रहे हैं, कुछ जेल में है और कुछ बेल पर है, ये अपराधी हैं कोई स्‍वतंत्रता सेनानी नहीं

देश में हाल में दुष्कर्म की घटनाओं के बारे में पूछे जाने पर चिदंबरम भावुक हो गए. उन्होंने कहा, 'मैं हैरान हूं. शर्मसार हूं. कल एक अखबार में मुझे दुष्कर्म और लिंचिंग की छह घटनाएं देखने को मिलीं. एक अखबार में एक दिन में दुष्कर्म और लिंचिंग की छह घटनाएं ...शर्मनाक है.' उन्होंने कहा कि यह शर्म की बात है कि लोगों के एक धड़े को लगता है कि वे ऐसे कृत्य कर बच जाएंगे. कांग्रेस नेता ने कहा, 'देश के कई हिस्से में कानून-व्यवस्था पूरी तरह चरमरा गई है. पुलिस क्या कर रही है? कहां है कानून का डर?' 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें. India News की ज्यादा जानकारी के लिए Hindi News App डाउनलोड करें और हमें Google समाचार पर फॉलो करें


 Share
(यह भी पढ़ें)... Bigg Boss 13 में पारस छाबड़ा की मम्मी ने बेटे को लगाई फटकार, बोलीं- 36 आएंगी 36 जाएंगी...देखें Video

Advertisement