IPL 2020, DC Vs KXIP: 'शॉर्ट रन' का अम्‍पायर का फैसला किंग्‍स इलेवन को पड़ा बेहद भारी, अपील की..

टीवी रिप्ले देखने से पता चलता है कि अंपायर नितिन मेनन का फैसला गलत था. किंग्‍स इलेवन की टीम ने इस फैसले के खिलाफ अपील की है

IPL 2020, DC Vs KXIP: 'शॉर्ट रन' का अम्‍पायर का फैसला किंग्‍स इलेवन को पड़ा बेहद भारी, अपील की..

अम्‍पायर ने मयंक अग्रवाल के एक रन को शार्ट घोषित किया जो पंजाब को भारी पड़ा

खास बातें

  • अम्‍पायर ने मयंक अग्रवाल के एक रन को शॉर्ट घोषित
  • इस कारण मैच निर्धारित ओवरों में टाई खत्‍म हुआ
  • बाद में सुपर ओवर में जीत गया दिल्‍ली कैपिटल्‍स

IPL 2020 के अंतर्गत रविवार को दिल्‍ली कैपिटल्‍स और किंग्‍स इलेवन पंजाब (DC Vs KXIP) का मैच रोमांचक होने के साथ-साथ विवादास्‍पद फैसलेे के लिए भी चर्चा में रहा. मैच में दिल्‍ली कैपिटल्‍स की टीम ने सुपर ओवर में जीत हासिल की. मैच में अम्‍पायर का अहम मौके पर किंग्‍स इलेवन के बल्‍लेबाज का एक रन शॉर्ट देने का फैसला विवादों का केंद्र रहा और इसके कारण मैच टाई हुआ और बाद में सुपर ओवर में दिल्‍ली ने जीत हासिल कर ली. दरअसल पंजाब की बैटिंग के दौरान, मैच के 19वें ओवर में कगीसो रबाडा गेंदबाजी करने आए. उनकी पहली गेंद पर मयंक अग्रवाल ने चौका जड़ा. तीसरी गेंद रबाडा ने यॉर्कर डाली जिसे अग्रवाल ने एक्सट्रा कवर एरिया में खेला. उनके साथ खेल रहे क्रिस जॉर्डन को डेंजर ऐंड पर पहुंचना था. दोनों बल्लेबाजों ने दो रन दौड़कर पूरे किए. हालांकि स्क्वेअर लेग पर खड़े अंपायर नितिन मेनन ने इसे 'शॉर्ट रन' करार दिया. यानि बल्लेबाज क्रीज में बिना पहुंचे ही दूसरे रन के लिए दौड़ पड़ा. अंपायर के अनुसार, विकेटकीपर छोर पर जार्डन ने अपना बल्ला क्रीज के पार नहीं किया था और दूसरे रन के लिए दौड़ पड़े. हालांकि रिप्‍ले में यह साफ नजर आया कि मेनन का यह फैसला गलत था. टीवी रिप्ले देखने से पता चलता है कि अंपायर नितिन मेनन का फैसला गलत था. किंग्‍स इलेवन की टीम ने इस फैसले के खिलाफ अपील की है

मेनन के इस फैसले से टीम इंडिया के पूर्व क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग खासे खफा नजर आए. उन्होंने एक ट्वीट कर अंपायरिंग की आलोचना की.वीरेंद्र सहवाग ने प्रिटशॉट शेयर किया, जहां साफ देख जा सकता है कि बल्ला क्रीज में है. उन्होंने कैप्शन में लिखा, 'मैं मैन ऑफ द मैच अवॉर्ड के चुनाव से खुश नहीं हूं. जिस अंपायर ने यह शॉर्ट रन दिया वह मैन ऑफ द मैच होना चाहिए था. शॉर्ट रन नहीं था और यही अंतर था.'

नजदीकी मैच में अंपायर का यह विवादित फैसला किंग्‍स इलेवन के लिए भारी पड़ गया और इसके कारण सुपर ओवर में उसे मैच गंवाना पड़ा. यदि अम्‍पायर मयंक के एक रन को शॉर्ट घोषित नहीं करते तो पंजाब की टीम निर्धारित ओवरों में ही फैसला अपने पक्ष में कर लेती.दिल्ली कैपिटल्स ने पहले बैटिंग करते हुए आठ विकेट पर 157 रन का स्कोर बनाया. जवाब में पंजाब की टीम भी 20 ओवर में 8 विकेट पर 157 रन ही बना सकी, जिसके कारण मैच टाई रहा. बाद में फैसला सुपर ओवर में गया जिसमें दिल्‍ली ने जीत हासिल कर ली. 

VIDEO: कुछ दिन पहले विराट ने करियर को लेकर बड़ी बात कही थी. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com