NDTV Khabar

मिलिए IPS अपर्णा कुमार से, जो साउथ पोल के बाद अब नॉर्थ पोल फतह करने निकलीं

दुनिया की ऊंची-ऊंची चोटियों पर चढ़ाई करने वालीं आईपीएस अपर्णा कुमार अब एक और कठिन मिशन पर रवाना हो गईं हैं. आईटीबीपी में डीआईजी पद पर कार्यरत अपर्णा ने साउथ पोल के बाद अब नार्थ पोल के लिए कूच किया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मिलिए IPS अपर्णा कुमार से, जो साउथ पोल के बाद अब नॉर्थ पोल फतह करने  निकलीं

आईपीएस अपर्णा कुमार की फाइल फोटो.

नई दिल्ली:

दुनिया की ऊंची-ऊंची चोटियों पर चढ़ाई करने वालीं आईपीएस अपर्णा कुमार अब एक और कठिन मिशन पर रवाना हो गईं हैं. आईटीबीपी में डीआईजी पद पर कार्यरत अपर्णा ने साउथ पोल के बाद अब नार्थ पोल के लिए कूच किया है. अपर्णा एक अपैल से 15 अप्रैल की बीच  ओस्लो(नॉर्वे) के रास्ते उत्तरी ध्रुव तक पहुंचने का प्रयास करेंगी. इससे पहले अपर्णा कुमार 111 किलोमीटर तक बर्फ पर चल कर साउथ पोल तक पहुंची थीं. जिस वक्त ये साउथ पोल पहुंची थी उस वक्त उनके पास उपकरणों का लगभग 35 किलोग्राम वजन भी था. वे साउथ पोल तक  पहुंचने वाली पहली महिला आईपीएस और आईटीबीपी महिला अधिकारी हैं.

यह भी पढ़ें- साउथ पोल पहुंचने वाली पहली महिला IPS अपर्णा कुमार की जुबानी, लक्ष्य तक पहुंचने की कहानी

 इसके पहले भी उन्होंने विश्व की नामी चोटियों पर सफलतापूर्वक चढ़ाई की है. वह 13 जनवरी, 2019 को साउथ पोल पर पहुंची थी और वहां पर तिरंगा और आईटीबीपी का झंडा लहराया था. अपने अभियान के लिए मिशन सेवन समिट का लक्ष्य निर्धारित करके अपर्णा कुमार ने अब तक 6 महाद्वीपों की सबसे ऊंची चोटियों का आरोहण कर लिया है. वे इसी वर्ष में दक्षिणी अमेरिका की सबसे ऊंची चोटी माउंट देनाली के आरोहण का भी प्रयास करेंगी. यदि वे यह करने में सफल होती हैं तो सातों महाद्वीपों पर पहुंचने वाली और सर्वोच्च चोटियों को फतह करने वाली महिला बनेंगी और आइटीबीपी के लिए यह एक और उपलब्धि होगी. छह महाद्वीपों की सर्वश्रेष्ठ सर्वोच्च चोटियों का भी आरोहण किया है. अपर्णा कुमार 2002 बैच की यूपी काडर की आईपीएस अधिकारी हैं और वर्तमान में आईटीबीपी की नॉर्दर्न फ्रंटियर में तैनात हैं.


यह भी पढ़ें- एवरेस्ट पर चढ़ाई के दौरान दो भारतीय पर्वतारोही लापता, एक भारतीय महिला के सुन्न पड़े हाथ पैर

आपको बता दें कि इस समय नॉर्थ पोल का तापमान शून्य से लगभग 45 डिग्री तक नीचे है और इस इलाके में पोलर बियर और आर्कटिक फॉक्स जैसे जंगली जानवरों का भी खतरा बना रहता है इन हालातों के बीच अपर्णा कुमार उत्तरी ध्रुव तक पहुंचकर इतिहास रचने के लिए रवाना हो चुकी हैं. वैसे भी आईटीबीपी पर्वतारोहण में विशेष उपलब्धि धारण करने वाला बल है जिसने वैश्विक तौर पर 211 सफल पर्वतारोहण अभियान संचालित किये हैं जो एक रिकॉर्ड है. आईटीबीपी मूलतः अति कठिन भारत चीन हिमालयी सीमा की निगरानी करनेवाला केन्द्रीय सशस्त्र पुलिस बल है जिसकी पर्वतारोहण और साहसिक खेलों में विशेष वैश्विक पहचान है.

टिप्पणियां

वीडियो- एवरेस्ट पर्वत पर पहुंचीं भारतीय पर्वतारोही अरुणिमा 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement