NDTV Khabar

‘चाबहार बंदरगाह भारतीय कंपनी को एक महीने के भीतर सौंपेगा ईरान’

ईरान के सड़क एवं शहरी विकास मंत्री अब्बास अखोंदी ने गुरूवार को कहा कि अंतरिम समझौते के तहत रणनीतिक रूप से महत्वपूर्ण चाबहार बंदरगाह परिचालन के लिये एक महीने के भीतर भारतीय कंपनी को सौंप दिया जाएगा.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
‘चाबहार बंदरगाह भारतीय कंपनी को एक महीने के भीतर सौंपेगा ईरान’

चाबहार बंदरगाह सिस्तान बलूचिस्तान प्रांत में है.

नई दिल्ली: ईरान के सड़क एवं शहरी विकास मंत्री अब्बास अखोंदी ने गुरूवार को कहा कि अंतरिम समझौते के तहत रणनीतिक रूप से महत्वपूर्ण चाबहार बंदरगाह परिचालन के लिये एक महीने के भीतर भारतीय कंपनी को सौंप दिया जाएगा. अखोंदी नीति आयोग द्वारा आयोजित ‘मोबिलिटी शिखर सम्मेलन’ में भाग लेने के लिये यहां आये हुए हैं. मंत्री ने कहा, ‘अंतरिम समझौते के तहत हम अब बंदरगाह (चाबहार) प्रबंधन के लिये भारतीय कंपनी को सौंपने के लिये तैयार हैं.’ 

ईरान ने साधा भारत पर निशाना, कहा- तेल का आयात कम करने पर ‘विशेष लाभ’ खत्म

चाबहार बंदरगाह सिस्तान बलूचिस्तान प्रांत में है जो ऊर्जा संसाधन से भरपूर देश का दक्षिणी तट है. भारत के पश्चिमी तट से यहां आसानी से पहुंचा जा सकता है. इसे पाकिस्तान के ग्वादार बंदरगाह के प्रत्युत्तर के रूप में देखा जा रहा है. सड़क परविहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी के साथ बैठक के बाद अखौंदी ने कहा, ‘‘हम पहले ही एक कदम आगे बढ़ चुके हैं ... हमें भारत को बैंक चैनल पेश करना चाहिए जो हम पहले ही कर चुके हैं और सौभाग्य से भारत ने औपचारिक रूप से इसे स्वीकार्य भी कर लिया है.’

चाबहार बंदरगाह के लिए भागीदारों का चयन करना ईरान का विशेषाधिकार: भारत

उन्होंने कहा कि भारत ने भी बैंकिंग जरिया पेश किया है जिसे ईरान के केंद्रीय बैंक ने मंजूरी दे दी है. ईरान के मंत्री ने कहा, ‘‘भारतीय पक्ष ने चाबहार बंदरगाह में निवेश किया है ओर हम बंदरगाह के उपयोग की दिशा में आगे बढ़ रहे हैं.’ उन्होंने कहा कि बंदरगाह एक महीने में सौंपा जा सकता है.

टिप्पणियां
VIDEO: दस बातें : चाबहार पोर्ट समझौता

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement