NDTV Khabar

आईआरसीटीसी के विक्रेता ने जाति के आधार पर भर्ती का निकाला विज्ञापन, आलोचना के बाद लिया यू-टर्न

इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉर्पोरेशन (आईआरसीटीसी) ने गुरूवार को कहा कि कंपनी ने आलोचनाओं के बाद विज्ञापन जारी करने वाले एचआर कर्मी को हटा दिया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
आईआरसीटीसी के विक्रेता ने जाति के आधार पर भर्ती का निकाला विज्ञापन, आलोचना के बाद लिया यू-टर्न

आईआरसीटीसी ने की कार्रवाई

नई दिल्‍ली:

आईआरसीटीसी ने भर्ती के विज्ञापन में जातिगत प्राथमिकता कि बात करने वाले रेलवे के एक विक्रेता पर कार्रवाई की है. इस मामले को लेकर सोशल मीडिया पर आईआरसीटीसी की काफी खिंचाई हुई. बता दें कि 'बृंदावन फूड प्रोडक्ट्स' ने अपने यहां ट्रेन कैटरिंग मैनेजर, बेस किचन मैनेजर और स्टोर मैनेजर के तीन पदों के लिए 100 पुरुष उम्मीदवारों से आवेदन मांगे थे. विज्ञापन में कहा गया था कि आवेदक ‘अग्रवाल वैश्य समुदाय' से होना चाहिए और कम से कम 12वीं तक की शैक्षणिक योग्यता के साथ अच्छी पारिवारिक पृष्ठभूमि से होना चाहिए.

टिप्पणियां

इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉर्पोरेशन (आईआरसीटीसी) ने गुरूवार को कहा कि कंपनी ने आलोचनाओं के बाद विज्ञापन जारी करने वाले एचआर कर्मी को हटा दिया है. रेलवे के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, "आईआरसीटीसी ने इसे गंभीरता से लिया है और ठेकेदार को जातिगत आधार पर नोटिस निकालने से मना किया है. उनसे किसी भी जाति, धर्म या क्षेत्र के उचित लोगों की भर्ती करने के लिए कहा गया है" उन्होंने कहा, "ठेकेदार ने आईआरसीटीसी से इस बात की पुष्टि की है कि विज्ञापन के लिए जिम्मेदार एचआर मैनेजर को नौकरी से हटा दिया गया है".


सोशल मीडिया पर लोगों ने इस विज्ञापन की काफी आलोचना की थी एक ट्विटर यूजर ने  लिखा था "शर्मनाक और बेतुका. क्या अब निजी संचालक भी जाति के आधार पर नौकरी देंगे? क्या हमने अपने देश को बहुत ज्यादा नहीं बांट दिया है?"



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement