NDTV Khabar

क्या कोई मंत्री पार्ट टाइम जॉब कर सकता है? सिद्धू का नाम लिए बिना राज्यसभा में उठा सवाल

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
क्या कोई मंत्री पार्ट टाइम जॉब कर सकता है? सिद्धू का नाम लिए बिना राज्यसभा में उठा सवाल

उच्च सदन में सपा नेता नरेश अग्रवाल ने नवजोत सिंह सिद्धू का नाम लिए बिना यह मुद्दा उठाया...

खास बातें

  1. उच्च सदन में सपा नेता नरेश अग्रवाल ने सिद्धू का नाम लिए बिना मुद्दा उठाया
  2. कहा कि मीडिया में पंजाब को लेकर इस तरह के एक मामले की चर्चा हो रही है
  3. सिद्धू हाल में पंजाब में अमरिन्दर सिंह नीत कांग्रेस सरकार में मंत्री बने
नई दिल्ली: राज्यसभा में आज इस बात को लेकर सवाल उठे कि क्या कोई मंत्री अपनी जिम्मेदारियों के अलावा अन्य अंशकालिक काम कर सकता है. उच्च सदन में सपा नेता नरेश अग्रवाल ने नवजोत सिंह सिद्धू का नाम लिए बिना यह मुद्दा व्यवस्था के प्रश्न के नाम पर उठाया और कहा कि मीडिया में पंजाब को लेकर इस तरह के एक मामले की चर्चा हो रही है. गौरतलब है कि सिद्धू हाल में पंजाब में अमरिन्दर सिंह नीत कांग्रेस की नवगठित सरकार में मंत्री बने हैं और वह इस बात पर कायम हैं कि वह एक टीवी शो में काम करना जारी रखेंगे. लेकिन यह मामला अभी शांत नहीं हुआ है. हाल ही में महाधिवक्ता ने उन्हें शो करने की हरी झंडी दी है.

अग्रवाल ने यह मुद्दा उठाते हुए यह भी आरोप लगाया कि वित्त मंत्री अरूण जेटली एवं कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद विख्यात वकील हैं तथा कानूनी सलाह देने के लिए वे भी बड़ी राशि वसूल करते हैं.

टिप्पणियां
सपा नेता जब यह दावा कर रहे थे उस समय सदन में जेटली मौजूद थे. किन्तु उन्होंने कोई प्रतिक्रिया व्यक्त नहीं की. उप सभापति पी जे कुरियन ने उनके व्यवस्था के प्रश्न को खारिज करते हुए कहा कि उनके इस दावे के समर्थन में कोई साक्ष्य नहीं है तथा यह केवल एक आरोप है. संसदीय कार्य राज्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि सपा सदस्य के दावे तथ्यात्मक रूप से गलत हैं. कांग्रेस सदस्य राजीव शुक्ला ने कहा कि क्या सेवानिवृत्त न्यायाधीश अपनी राय दे सकते हैं या पंचाट बन सकते हैं.

कांग्रेस के एक अन्य सदस्य प्रमोद तिवारी ने विदेशों में रह रहे भारतीयों पर नस्ली हमले होने का मुद्दा उठाया. उन्होंने आस्ट्रेलिया में कोट्टायम के एक युवक पर हुए हालिया हमले का मामला उठाया और जानना चाहा कि सरकार इस सन्दर्भ में क्या कर रही है. सपा सदस्य जया बच्चन ने घृणा भाषणों का मुद्दा उठाते हुए कहा कि इनके माध्यम से देश के सांप्रदायिक माहौल को बिगाड़ा जा रहा है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement