NDTV Khabar

क्या पानसरे, दाभोलकर और कलबुर्गी हत्याकांड की भी अहम कड़ी है केटी नवीन?

पानसरे, दाभोलकर और कलबुर्गी की हत्या के मामलों की जांच में जुटी एजेंसियां गौरी लंकेश हत्याकांड की जांच कर रही एसआईटी से मिलने बेंगलुरु पहुंचीं

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
क्या पानसरे, दाभोलकर और कलबुर्गी हत्याकांड की भी अहम कड़ी है केटी नवीन?

गौरी लंकेश की हत्या के मामले में गिरफ्तार किया गया केटी नवीन कुमार.

खास बातें

  1. आरोपी केटी नवीन कुमार फिलहाल न्यायिक हिरासत में जेल में
  2. पंसारे हत्याकांड के आरोपी के वकील ने की मदद करने की कोशिश
  3. कथित रूप से पुलिस ने वकील को नवीन से मिलने नहीं दिया
बेंगलुरु: पत्रकार और वामपंथी विचारक गौरी लंकेश हत्याकांड में गिरफ्तार केटी नवीन क्या पानसरे, दाभोलकर और कलबुर्गी हत्याकांड की अहम कड़ी है? संकेत कुछ ऐसे ही मिल रहे हैं. हालांकि गौरी लंकेश हत्याकांड की जांच कर रही कर्नाटक पुलिस की एसआईटी इस बारे में बात करने से कतरा रही है.

वामपंथी विचारक गोविंद पानसरे हत्याकांड की जांच कर रही महाराष्ट्र पुलिस की सीआईडी के साथ-साथ  नरेंद्र दाभोलकर हत्याकांड की जांच कर रही सीबीई की टीमें बेंगलुरु पहुंच चुकी हैं और इनके साथ कर्नाटक पुलिस की सीआईडी की टीम भी है जो कि प्रोफेसर कलबुर्गी हत्याकांड की जांच कर रही है.

तीनों टीमें कर्नाटक पुलिस की एसआईटी से मिलकर ये जानने की कोशिश करेंगी की तकरीबन 12 दिनों की पूछताछ में क्या कलबुर्गी, पानसरे और दाभोलकर हत्याकांड के बारे में भी कुछ सुराग मिला या नहीं? साथ ही साथ यह एजेंसियां अपने कुछ सवाल भी एसआईटी को देंगी ताकि वे सवाल नार्को टेस्ट के वक़्त अवैध हथियारों के व्यापारी नवीन से पूछे जा सकें. हालांकि ये टीमें अगर नवीन से पूछताछ करना चाहें तो इसके लिए अदालत की इजाज़त की ज़रूरत पड़ेगी. केटी नवीन कुमार फिलहाल न्यायिक हिरासत में जेल में है.

यह भी पढ़ें : गौरी लंकेश हत्याकांड : गिराफ्तार आरोपी नवीन का नार्को टेस्ट दिल्ली में होगा या अहमदाबाद अभी तय नहीं..

पानसरे हत्याकांड के आरोपी के वकील अधिवक्ता वीरेंद्र बेंगलुरु में नवीन से मिलने आए थे ताकि उसे कानूनी सहायता दे सकें लेकिन तब नवीन एसआईटी की हिरासत में था. वीरेंद्र का आरोप है कि पुलिस ने उसे नवीन से मिलने नहीं दिया. इसे वीरेंद्र ने "मौलिक अधिकारों का हनन'' बताया था.

हिन्दू संगठनों के वकील अमरुतांशु ने एनडीटीवी को बताया कि "हिन्दू होने की वजह से मैंने नवीन को कानूनी सहायता देनी चाही क्योंकि मैं नहीं चाहता हूं कि कोई बेकसूर हिन्दू पीड़ित हो. लेकिन उसकी पत्नी ने कहा कि वकील वीरेंद्र ही नवीन की पैरवी करेंगे. उन्होंने यह भी बताया कि नवीन मण्डया ज़िले में हिन्दू युवा सेने नाम से एक छोटी संस्था चलाता है."

कर्नाटक के मंड्या के 33 साल के केटी नवीन कुमार को 18 फरवरी को सेंट्रल क्राइम ब्रांच की ऑर्गनाइज्ड क्राइम विंग ने हथियारों के साथ बेंगलुरु के मैजेस्टिक बस स्टैंड से गिरफ्तार किया था. बाद में एसआईटी ने उसे हिरासत में लेकर पांच दिनों तक पूछताछ की और फिर गौरी लंकेश हत्याकांड में आरोपी बनाकर गिरफ्तार किया. इस हत्याकांड में यह पहली गिरफ्तारी है.

पिछले हफ्ते एसआईटी ने अदालत से नवीन के नार्को टेस्ट की इजाज़त ले ली है ताकि अब तक अगर कुछ  नवीन छुपा रहा है तो उससे उगलवाया जा सके. एसआईटी नवीन के नार्को टेस्ट में साथ-साथ ब्रेन मैपिंग और पॉलीग्राफिक टेस्ट भी करवाने का सोच रही है.

हालांकि अभी यह तय नहीं है कि गौरी लंकेश हत्याकांड में गिरफ्तार नवीन के ये तीनों टेस्ट कहां करवाए जाएंगे, अहमदाबाद, दिल्ली या हैदराबाद में. एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि "एक बार तय होने के बाद जहां ये टेस्ट होने हैं उस सेंटर को सम्पर्क कर टेस्ट की तारीख तय की जाएगी."

टिप्पणियां
VIDEO : गौरी लंकेश की हत्या के मामले में पहली गिरफ्तारी

फिलहाल केटी नवीन कुमार बेंगलुरु के सेंट्रल जेल में 26 मार्च तक न्यायिक हिरासत में है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement