NDTV Khabar

ISRO का अब तक का सबसे वजनी GSAT-11 सैटेलाइट लॉन्च, फ्रेंच गुआना से सफल प्रक्षेपण

भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी इसरो द्वारा बनाए ‘सबसे अधिक वजनी’ उपग्रह जीसैट-11 का पांच दिसंबर यानी बुधवार को को फ्रेंच गुआना के एरियानेस्पेस के एरियाने-5 रॉकेट से सफल प्रक्षेपण किया गया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
ISRO का अब तक का सबसे वजनी GSAT-11 सैटेलाइट लॉन्च, फ्रेंच गुआना से सफल प्रक्षेपण

इसरो का GSAT-11 सैटेलाइट लॉन्च

नई दिल्ली: भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी इसरो द्वारा बनाए ‘सबसे अधिक वजनी' उपग्रह जीसैट-11 का पांच दिसंबर यानी बुधवार को को फ्रेंच गुआना के एरियानेस्पेस के एरियाने-5 रॉकेट से सफल प्रक्षेपण किया गया. भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने बताया कि करीब 5,854 किलोग्राम वजन का जीसैट-11 देशभर में ब्रॉडबैंड सेवाएं उपलब्ध कराने में अहम भूमिका निभाएगा. बताया जा रहा है कि यह सैटेलाइट GSAT-11 इसरो का बनाया अब तक का ‘सबसे अधिक वजन' वाला उपग्रह है.

इसरो की बड़ी कामयाबी, भारत ने PSLV-C43 की मदद से अमेरिका के 23 समेत लॉन्च किए 31 सैटेलाइट

जीसैट-11 अगली पीढ़ी का ‘हाई थ्रुपुट' संचार उपग्रह है और इसका जीवनकाल 15 साल से अधिक का है. इसे पहले 25 मई को प्रक्षेपित किया जाना था लेकिन इसरो ने अतिरिक्त तकनीकी जांच का हवाला देते हुए इसके प्रक्षेपण का कार्यक्रम बदल दिया. शुरुआत में उपग्रह भू-समतुल्यकालिक स्थानांतरण कक्षा में ले जाया जाएगा और उसके बाद उसे भू-स्थैतिक कक्षा में स्थापित किया जाएगा.

भारत 29 नवंबर को करेगा पीएसएलवी-सी 43 की लान्चिंग, 30 अमेरिकी सेटेलाइट भी ले जाएगा

टिप्पणियां
एरियाने-5 रॉकेट जीसैट-11 के साथ कोरिया एयरोस्पेस अनुसंधान संस्थान (केएआरआई) के लिए जियो-कोम्पसैट-2ए उपग्रह भी लेकर गया है. यह उपग्रह मौसम विज्ञान से संबंधित है. 

VIDEO: पीएसएलवी-सी 43 किया गया लांच


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement