कोरोना महामारी के बीच 20 लाख से अधिक करदाताओं को जारी किया गया 62,361 करोड़ का रिफंड: वित्‍त मंत्रालय

इस साल अप्रैल में आयकर विभाग ने कहा था कि सरकार 5 लाख रुपये तक के सभी लंबित आयकर रिफंडों को तुरंत जारी करेगी. कोई व्‍यक्ति उस स्थिति में आयकर रिफंड प्राप्त करने का उत्तरदायी है जब किसी विशेष वित्तीय वर्ष में आय से कर की कटौती उसकी कुल आयकर देयता से अधिक हो.

कोरोना महामारी के बीच 20 लाख से अधिक करदाताओं को जारी किया गया 62,361 करोड़ का रिफंड: वित्‍त मंत्रालय

आयकर विभाग ने 62,361 करोड़ रुपये के कर रिफंड जारी किए हैं

नई दिल्ली:

आयकर विभाग (Income Tax department) ने COVID-19 महामारी के बीच 20 लाख से अधिक करदाताओं (Taxpayers) को 62,361 करोड़ रुपये के रिफंड जारी किए हैं. वित्‍त मंत्रालय ने शुक्रवार को यह जानकारी दी. विज्ञप्ति में कहा गया है कि 19,07,853 मामलों में करदाताओं को 23,453.57 करोड़ रुपये का इनकम टेक्‍स रिफंड जारी किया गया है. इस अवधि के दौरान 1,36,744 मामलों में 38,908.37 करोड़ रुपये का कार्पोरेट टेक्‍स रिफंड जारी किए गएए हैं.

वित्त मंत्रालय ने यह भी कहा कि रिफंड को केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (CBDT) ने इलेक्ट्रॉनिक रूप से मंजूरी दे दी है और उसने 8 अप्रैल, 2020 से 30 जून, 2020 तक हर मिनट में 76 लंबित कर वापसी के मामलों को मंजूरी दे दी है. इस साल अप्रैल में आयकर विभाग ने कहा था कि सरकार 5 लाख रुपये तक के सभी लंबित आयकर रिफंडों को तुरंत जारी करेगी. कोई व्‍यक्ति उस स्थिति में आयकर रिफंड प्राप्त करने का उत्तरदायी है जब किसी विशेष वित्तीय वर्ष में आय से कर की कटौती उसकी कुल आयकर देयता से अधिक हो.

Newsbeep

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com