आईटीबीपी ने बद्रीनाथ मंदिर परिसर में चलाया स्वच्छता अभियान

पवित्र धाम में आईटीबीपी ने मंदिर परिसर के अलावा तप्त कुंड, अलकनंदा नदी के तटों, सीढ़ियों, पैदल मार्गों आदि की सफाई की और कूड़ा हटाया

आईटीबीपी ने बद्रीनाथ मंदिर परिसर में चलाया स्वच्छता अभियान

आईटीबीपी के जवानों ने उत्तराखंड में बद्रीनाथ मंदिर परिसर मे सफाई अभियान चलाया.

नई दिल्ली:

आईटीबीपी ने बद्रीनाथ मंदिर परिसर में द्वार खुलने से पहले स्वच्छता अभियान चलाया. उत्तराखंड में चार धाम यात्रा शुरू हो चुकी है. बद्रीनाथ के कपाट 10 मई, 2019 को खुलने हैं. इससे पहले 60 सदस्यों के भारत-तिब्बत सीमा पुलिस यानी कि आईटीबीपी (ITBP) के पर्वतारोहण तथा स्कीइंग इंस्टीट्यूट, औली के पर्वतारोहियों ने मंदिर परिसर और आसपास के इलाकों में व्यापक सफाई अभियान चलाया.

चमोली जिले के माना गांव के पास स्थित इस पवित्र धाम में आईटीबीपी ने मंदिर परिसर के अलावा तप्त कुंड, अलकनंदा नदी के तटों, सीढ़ियों, पैदल मार्गों आदि की सफाई करने के साथ साथ कूड़ा भी हटाया. आईटीबीपी हर साल कपाट खुलने से पहले बद्रीनाथ धाम की साफ़ सफाई करती रही है.

c8dt17s4

समुद्र तल से 10 हज़ार 8 सौ फीट की उंचाई पर स्थित बद्रीनाथ धाम में इस वर्ष अपेक्षाकृत ज्यादा बर्फ़बारी से संपर्क मार्ग दो माह से भी ज्यादा समय तक बंद रहे थे. पिछले वर्ष 20 नवम्बर को मंदिर के कपाट बंद हुए थे.

dpnl6ggo
Newsbeep

बीते साल कपाट खुलने के एक हफ्ते के अन्दर ही लगभग एक लाख लोगों ने बद्रीनाथ जी के दर्शन किए थे. इस वर्ष भी मई महीने में ही श्रद्धालुओं का आंकड़ा दो लाख से भी ज्यादा हो सकता है. वर्ष 2018 में लगभग 11 लाख श्रद्धालु मंदिर पहुंचे थे जो आंकड़ा वर्ष 2019 में बढ़ सकता है.

h5kondcs

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


आईटीबीपी की टीम का नेतृत्व कर रहे आईटीबीपी औली के अधिकारी नानक चंद ठाकुर ने कहा कि आईटीबीपी हमेशा से बद्रीनाथ धाम की सफाई करती आई है ताकि यहां आने वाले श्रद्धालुओं को किसी भी तरह की परेशानी न हो.