Budget
Hindi news home page

अपने ही दामाद से चुनौती मिली बीजेपी के जगदीश मुखी को!

ईमेल करें
टिप्पणियां
अपने ही दामाद से चुनौती मिली बीजेपी के जगदीश मुखी को!

जगदीश मुखी की फाईल फोटो

नई दिल्ली: कांग्रेस की दूसरी लिस्ट में भले ही दो पूर्व सांसद महाबल मिश्रा और अजय माकन का नाम थोड़ा चौंकाने वाला हो क्योंकि द्वारका विधानसभा से महाबल मिश्रा चुनाव लड़ेंगे जो लोकसभा का चुनाव हार चुके हैं। जबकि अजय माकन को सदर विधानसभा से टिकट देकर कांग्रेस ने साफ कर दिया है कि अजय माकन ही कांग्रेस के दिल्ली चुनाव के कप्तान होंगे।

लेकिन, इस लिस्ट में सबसे ज्यादा चौंकाने वाला नाम सुरेश कुमार का है। सुरेश कुमार दो साल पहले ही कांग्रेस में शामिल हुए हैं। वे दिल्ली में बीजेपी के वरिष्ठ नेता जगदीश मुखी के दामाद है। दो साल पहले जब उन्हें बीजेपी से पार्षद का टिकट नहीं मिला तो उन्होंने नाराज होकर कांग्रेस ज्वाइन कर ली थी।

हालांकि जगदीश मुखी ने उन्हें टिकट दिलाने की जी तोड़ कोशिश की थी। सुरेश कुमार की राजनीतिक महात्वाकांक्षा किसी से छिपी नहीं है। जब बीजेपी से टिकट नहीं मिला तो उन्होंने निर्दलीय चुनाव लड़ने की ठानी थी, लेकिन जगदीश मुखी के दबाव में अपना नामांकन वापस ले लिया था।

अब उन्हें कांग्रेस ने जनकपुरी से अपना उम्मीदवार बनाकर मुकाबले को रोचक कर दिया है।

अब अगर बीजेपी अपने पुराने उम्मीदवार यानि जगदीश मुखी को टिकट देती है तो मुकाबला ससुर और दामाद के बीच होगा।

हालांकि, इस सीट से कांग्रेस के ही संजय पुरी, वरिष्ठ नेता मुकेश शर्मा के बेटे और महाबल मिश्रा के रिश्तेदार ने भी टिकट के लिए जोर अजमाइश की थी। जनकपुरी बीजेपी की परंपरागत सीट रही है और इस विधानसभा में बीजेपी के तीन पार्षद भी हैं। जगदीश मुखी पांच बार विधायक रह चुके हैं। पिछली जगदीश मुखी सिर्फ 3000 वोटों से जनकपुरी की सीट से जीत पाए थे। आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार राजेश ऋषि से उन्हें कड़ी टक्कर मिली थी।

पहले आप पार्टी के अरविंद केजरीवाल ने उनके पोस्टर लगाकर कई बार सर्वे कराए और अपने को उनसे ऊपर दिखाया। अब अपने ही दामाद से मिल रही चुनौती से मुखी की मुश्किलें जरूर बढ़ गई है।


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement

 
 

Advertisement