'जय श्री राम' नारा विवाद: केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो बोले- दीदी की हालत ठीक नहीं, कुछ दिन ब्रेक लेना चाहिए

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने रविवार को आरोप लगाया कि भाजपा बार-बार ‘जय श्री राम’ का इस्तेमाल कर धर्म को राजनीति में मिला रही है.

'जय श्री राम' नारा विवाद: केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो बोले- दीदी की हालत ठीक नहीं, कुछ दिन ब्रेक लेना चाहिए

केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो.

कोलकाता:

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो ने निशाना साधा है. भाजपा समर्थकों द्वारा 'जय श्री राम' के नारे लगाने पर ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) के कथित तौर पर आपत्ति जताने पर बाबुल सुप्रियों ने यह हमला बोला है. ममता बनर्जी का कहना है 'भाजपा धर्म को राजनीति के साथ मिलाकर पश्चिम बंगाल में अशांति पैदा करना चाहती है.' लोकसभा चुनाव में आसनसोल सीट से टीएमसी उम्मीदवार मुनमुन सेन को हराने वाले सुप्रियो (Babul Supriyo) ने कहा, 'वह (ममता बनर्जी) एक अनुभवी राजनीतिज्ञ हैं लेकिन उनका व्यवहार असामान्य और विचित्र है. उन्हें अपने पद की गरिमा को ध्यान में रखना चाहिए. उन्हें कुछ दिनों के लिए ब्रेक लेना चाहिए. बंगाल में भाजपा की मौजूदगी से वह हैरान हैं.'

वहीं पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने रविवार को आरोप लगाया कि भाजपा बार-बार ‘जय श्री राम' का इस्तेमाल कर धर्म को राजनीति में मिला रही है. तृणमूल कांग्रेस अध्यक्ष ने यह भी कहा कि नफरत की विचारधारा के प्रचार-प्रसार का प्रयास किया जा रहा है, जिसका विरोध किया जाना चाहिए. उन्होंने एक फेसबुक पोस्ट में कहा, “जय सिया राम, जय रामजी की, राम नाम सत्य है आदि के धार्मिक और सामाजिक निहितार्थ हैं. लेकिन भाजपा धार्मिक नारे जय श्री राम को अपनी पार्टी के नारे के तौर पर गलत तरीके से इस्तेमाल कर धर्म को राजनीति से मिला रही है.”

बीजेपी नेता ने ममता बनर्जी को लिखा पत्र, कहा- राम नाम लें, बुरी शक्तियों का असर खत्म हो जाएगा

उन्होंने कहा कि उन्हें किसी खास नारे के किसी रैली या पार्टी के कार्यक्रम में इस्तेमाल किये जाने पर कोई आपत्ति नहीं है. मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘मुझे किसी राजनीतिक दलों की रैलियों और उनके पार्टी के उद्देश्य में कोई खास नारे से कोई दिक्कत नहीं है. हर राजनीतिक दल का अपना नारा है. मेरी पार्टी का ‘जय हिंद, वंदे मातरम' नारा है. वाम का ‘इंकलाब जिंदाबाद' नारा है. अन्यों के भी अलग-अलग नारे हैं. हम एक-दूसरे का सम्मान करते हैं. हम दूसरों पर...इस धार्मिक नारे के जबरन प्रवर्तन का सम्मान नहीं करते.'

पश्चिम बंगाल में 'जय श्री राम' पर सियासत, ममता बनर्जी बोलीं- BJP धर्म को राजनीति से मिला रही

बता दें, पश्चिम बंगाल के 24 परगना जिले में बृहस्पतिवार को ममता बनर्जी ने ‘जय श्री राम' के नारे लगा रहे कुछ लोगों से नाराजगी जताई थी. ऐसी एक घटना का वीडियो भी सोशल मीडिया पर चल रहा है. बनर्जी ने पोस्ट में लिखा, 'हिंसा और तोड़फोड़ के जरिये नफरत की विचारधारा को जानबूझ कर बेचने का प्रयास किया जा रहा है जिसका निश्चित रूप से विरोध किया जाना चाहिए. राम मोहन राय से विद्यासागर और अन्य महान समाज सुधारकों तक बंगाल सौहार्द्र, प्रगति और प्रगतिशील विचारधारा का स्थान रहा है लेकिन अब भाजपा की भ्रम फैलाने की रणनीति बंगाल को नकारात्मक तरीके से निशाना बना रही है.'

बंगाल में फिर 'जय श्री राम' के नारे: ममता के मंत्री कर रहे थे मीटिंग, BJP समर्थक बाहर लगा रहे थे नारे, पुलिस ने किया लाठीचार्ज

उन्होंने कहा कि यह समय राजनीतिक कार्यकर्ताओं को देश में अशांति फैलाने से रोकने के लिए कदम उठाने का है. इस बीच, बनर्जी का जिक्र करते हुए भाजपा नेता मुकुल रॉय ने कहा कि लोकसभा चुनावों के नतीजों के बाद टीएमसी प्रमुख अपना मानसिक संतुलन खो रही हैं.

(इनपुट- एजेंसियां)

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

पश्चिम बंगाल में ‘जय श्री राम' को लेकर राजनीति गरमाई, BJP सीएम ममता बनर्जी को भेजेगी 10 लाख पोस्टकार्ड

Video: बीजेपी धर्म और राजनीति को मिला रही है - ममता