NDTV Khabar

जैन मुनि तरुण सागर का 51 साल की उम्र में निधन, 3 बजे होगा अंतिम संस्कार

विख्यात जैन मुनि तरुण सागर (Jain Muni Tarun Sagar) का निधन हो गया है. वे 51 साल के थे और पिछले कुछ दिनों से पीलिया से पीड़ित थे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
जैन मुनि तरुण सागर का 51 साल की उम्र में निधन, 3 बजे होगा अंतिम संस्कार

विख्यात जैन मुनि तरुण सागर (Jain Muni Tarun Sagar) का निधन हो गया है. वे 51 साल के थे.

नई दिल्ली :

विख्यात जैन मुनि तरुण सागर (Jain Muni Tarun Sagar) का निधन हो गया है. वे 51 साल के थे और पिछले कुछ दिनों से पीलिया से पीड़ित थे. जैन मुनि का एक निजी अस्पताल में इलाज चल रहा था और उन्होंने दिल्ली के शाहदरा के कृष्णानगर में शनिवार सुबह 3:18 बजे अंतिम सांस ली. बताया जा रहा है उन पर दवाओं का असर होना बंद हो गया था. कहा यह भी जा रहा है कि जैन मुनि ने इलाज से इनकार कर दिया था, जिससे बीमारी बढ़ गई. जैन मुनि तरुण सागर का अंतिम संस्कार दोपहर 3 बजे दिल्ली मेरठ हाइवे स्थित तरुणसागरम तीर्थ पर होगा. उनकी अंतिम यात्रा दिल्ली के राधेपुर से शुरू होकर 28 किमी दूर तरुणसागरम पर पहुंचेगी.

जैन मुनि तरुण सागर के दरबार पहुंचे संगीतकार विशाल डडलानी, मांगी माफी 


टिप्पणियां

आपको बता दें कि जैन मुनि तरुण सागर अपने कड़वे प्रवचनों को लेकर अक्सर चर्चा में रहते थे. जैन मुनि (Jain Muni Tarun Sagar) का जन्‍म मध्य प्रदेश के दमोह में 26 जून, 1967 को हुआ था. पिता का नाम प्रताप चंद्र और मां का नाम शांतिबाई था. जैन मुनि तरुण सागर ने आठ मार्च, 1981 को घर छोड़ दिया और छत्तीसगढ़ में दीक्षा ली थी. गौरतलब है कि संगीतकार विशाल डडलानी ने कुछ दिनों पहले जैन मुनि के हरियाणा विधानसभा में एक कार्यक्रम पर अपना गुस्सा जाहिर किया था और जैन मुनि पर अभद्र टिप्पणी की थी. बाद में विशाल डडलानी ने चंडीगढ़ पहुंचकर जैन मुनि तरुण सागर से मुलाकात की और माफी मांग ली थी. 

विशाल डडलानी के खिलाफ FIR दर्ज, धर्मगुरु तरुण सागर ने कहा - माफी की कोई जरूरत नहीं



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement