NDTV Khabar

जयराम रमेश ने सभापति को लिखी चिट्ठी, कहा-सरकार को सत्र बुलाने के लिए करें राजी

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जयराम रमेश ने राज्यसभा के सभापति को चिट्ठी लिखी है, जिसमें उन्होंने सभापति से सरकार को दो हफ्ते का संसद सत्र बुलाने के लिए राज़ी करने की दरख़्वास्त की है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
जयराम रमेश ने सभापति को लिखी चिट्ठी, कहा-सरकार को सत्र बुलाने के लिए करें राजी

जयराम रमेश की फाइल फोटो

खास बातें

  1. जयराम रमेश ने राज्यसभा के सभापति को चिट्ठी लिखी है
  2. सभापति से सरकार को दो हफ्ते का संसद सत्र बुलाने के लिए राज़ी करें: जयराम
  3. सरकार अहम मुद्दों पर चर्चा करने के लिए मई-जून में दो हफ्ते का सत्र बुलाए
नई दिल्ली: कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जयराम रमेश ने राज्यसभा के सभापति को चिट्ठी लिखी है, जिसमें उन्होंने सभापति से सरकार को दो हफ्ते का संसद सत्र बुलाने के लिए राज़ी करने की दरख़्वास्त की है. जयराम ने लिखा है कि सरकार अहम मुद्दों पर चर्चा और बिल पास करने के लिए मई-जून में दो हफ्ते का सत्र बुलाए. 

वहीं पीएम ने कांग्रेस पर एक आक्रामक हमले में आरोप लगाया है कि विपक्षी दलों ने संसदीय लोकतंत्र का गला घोंट दिया है. दरअसल इस खटास का कारण है हंगामे और शोरगुल की भेंट चढ़ा बजट सत्र का दूसरा दौर जो बिना कामकाज के खत्म हो गया. हंगामे और शोरगुल के चलते सबसे कम कामकाज वाले सत्रों में से एक माना जाएगा. जहां लोकसभा और राज्यसभा को मिलाकर कुल 250 घंटे विरोध प्रदर्शन की भेंट चढ़ गए. विपक्ष के अंदाज़ में सरकार के सांसदों और मंत्रियों ने संसद बाधित करने के लिए कांग्रेस और अन्य दलों को ज़िम्मेदार ठहराया. 

भाजपा और कांग्रेस ने संसद के बजट सत्र में गतिरोध के लिए एक दूसरे को आज जिम्मेदार ठहराया और देशव्यापी अनशन करने की घोषणा की. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आरोप लगाया कि कांग्रेस ने अपने आचरण से संसदीय प्रक्रिया का स्तर नीचा गिराने का काम किया है और संसद में विपक्षी दलों के आचरण के विरोध में भाजपा सांसद 12 अप्रैल को देशभर में अनशन करेंगे. उधर, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पार्टी कार्यकर्ताओं से भाजपा के ‘‘झूठों’’ को बेनकाब करने के लिए नौ अप्रैल को एक दिन का उपवास करने को कहा.

टिप्पणियां
भाजपा संसदीय दल की बैठक में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कांग्रेस को निशाने पर लिया और पार्टी सांसदों एवं मंत्रियों से दलितों एवं आदिवासियों की अच्छी खासी आबादी वाले गांव में जाने और सरकार की जन कल्याण योजनाओं की जानकारी देने को कहा है.

 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement