NDTV Khabar

जामिया की कुलपति ने एक बार फिर खटखटाया HRD मंत्रालय का दरवाजा, उच्च स्तरीय जांच की मांग की

जामिया मिल्लिया इस्लामिया की कुलपति नज्मा अख्तर ने मंगलवार को एक बार फिर मानव संसाधन विकास मंत्रालय का दरवाजा खटखटाया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
जामिया की कुलपति ने एक बार फिर खटखटाया HRD मंत्रालय का दरवाजा, उच्च स्तरीय जांच की मांग की

जामिया मिल्लिया इस्लामिया की कुलपति नज्मा अख्तर. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

जामिया मिल्लिया इस्लामिया की कुलपति नज्मा अख्तर ने मंगलवार को एक बार फिर मानव संसाधन विकास मंत्रालय का दरवाजा खटखटाया और उन्होंने पिछले महीने विश्वविद्यालय परिसर में हुई पुलिस कार्रवाई की 'उच्च स्तरीय' जांच की मांग की. अख्तर 15 दिसंबर को हुए घटनाक्रम का ब्योरा देते हुए दो रिपोर्ट पहले ही मंत्रालय को भेज चुकी हैं. उन्होंने पुलिस कार्रवाई की जांच की अपनी मांग फिर से दोहराई है और यह मुद्दा उठाया कि इस विषय में प्राथमिकी दर्ज नहीं की जा रही है. उच्चतर शिक्षा सचिव अमित खरे के साथ अपनी बैठक में जामिया कुलपति ने उन्हें सोमवार को छात्रों द्वारा किए गए प्रदर्शन के बारे में भी जानकारी दी, जिन्होंने दिल्ली पुलिस के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए उनके कार्यालय का घेराव किया था.


जामिया में रद्द हुई परीक्षाएं, छात्रों ने कहा- सुरक्षा की गारंटी दिए बिना नहीं हो सकते एग्जाम

एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, 'जामिया कुलपति ने एचआरडी अधिकारियों से मुलाकात की और उन्हें विश्वविद्यालय के घटनाक्रम के बारे में जानकारी दी. उन्होंने मंत्रालय से एक बार फिर से अनुरोध किया कि विश्वविद्यालय के पुस्तकालय में 15 दिसंबर की कथित पुलिस कार्रवाई की जांच कराई जाए.'

जामिया की VC नज्मा अख्तर के सामने छात्रों ने किया प्रदर्शन, पूछा- दिल्ली पुलिस पर FIR कब?

टिप्पणियां

इससे पहले दिन में अख्तर ने दिल्ली पुलिस आयुक्त अमूल्य पटनायक से भी मुलाकात की और उनसे इस मुद्दे के सिलसिले में प्राथमिकी दर्ज करने का अनुरोध किया. 

VIDEO: जामिया की VC नज्मा अख्तर के सामने छात्रों ने किया प्रदर्शन



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें. India News की ज्यादा जानकारी के लिए Hindi News App डाउनलोड करें और हमें Google समाचार पर फॉलो करें


 Share
(यह भी पढ़ें)... राजगढ़ के थप्पड़ कांड को लेकर हाई कोर्ट ने राज्य सरकार और कलेक्टर से जवाब मांगा

Advertisement