NDTV Khabar

जम्मू-कश्मीर: बडगाम और सौरा में हुए आतंकी हमले में 2 पुलिसकर्मी शहीद

श्रीनगर के सौरा में आतंकियों ने पुलिस गार्ड पोस्ट पर हमला कर दिया, जिसमें एक पुलिसकर्मी फ़ारुक़ अहमद शहीद हो गए.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
जम्मू-कश्मीर: बडगाम और सौरा में हुए आतंकी हमले में 2 पुलिसकर्मी शहीद

फाइल फोटो

खास बातें

  1. जम्मू कश्मीर में दो अलग-अलग आतंकी हमलों में दो पुलिसकर्मी शहीद हो गए
  2. आतंकियों ने बडगाम ज़िले के चरार-ए-शरीफ़ में एक गार्ड पोस्ट पर हमला किया
  3. दूसरा हमला श्रीनगर के सौरा में आतंकियों ने पुलिस गार्ड पोस्ट पर किया
श्रीनगर : जम्मू कश्मीर में दो अलग-अलग आतंकी हमलों में दो पुलिसकर्मी शहीद हो गए. पहला हमला आतंकियों ने बडगाम ज़िले के चरार-ए-शरीफ़ में एक गार्ड पोस्ट पर किया. हमले में कॉन्स्टेबल कुलतार सिंह घायल हो गए और बाद में अस्पताल में इलाज के दौरान उन्होंने दम तोड़ दिया. आतंकी उनके हथियार भी ले भागे. दूसरा हमला श्रीनगर के सौरा में आतंकियों ने पुलिस गार्ड पोस्ट पर हमला कर दिया, जिसमें एक पुलिसकर्मी फ़ारुक़ अहमद शहीद हो गए.

जम्मू-कश्मीर में भारतीय वायुसेना स्टेशन के बाहर आतंकी हमले की साजिश विफल

एक अधिकारी ने बताया कि आतंकियों ने आज दोपहर बडगाम जिले के चरार-ए-शरीफ इलाके में सूफी शेख नूरूद्दीन नूरानी की दरगाह के निकट पुलिस चौकी पर गोलीबारी की. गोलीबारी में जम्मू कश्मीर सशस्त्र पुलिस की 13 वीं बटालियन के कांस्टेबल कुलतार सिंह घायल हो गए. सिंह को अस्पताल ले जाया गया जहां उनकी मौत हो गई.

दूसरी घटना में, श्रीनगर के सौरा इलाके में हुर्रियत नेता फजल हक कुरैशी के घर के बाहर पुलिस चौकी पर आतंकियों ने हमला किया जिसमें कांस्टेबल फारूख अहमद की मौत हो गयी. उन्होंने बताया कि कुरैशी दिसंबर 2009 में आतंकी हमले में घायल हो गए थे.

असदुद्दीन ओवैसी को सेना का जवाब, हम शहीदों को धर्म से नहीं जोड़ते

अधिकारियों ने बताया कि इलाके की घेराबंदी कर दी गयी और आतंकियों को पकड़ने के लिए तलाश की जा रही है.

टिप्पणियां
राज्य के डीजीपी एस पी वैद ने दो पुलिसकर्मियों की ‘‘शहादत’’ पर दुख प्रकट किया. राज्य के शीर्ष पुलिस अधिकारी ने ट्वीट किया, ‘‘बच्चों और सावधान हो जाओ. यह छद्म लड़ाई है जिसके खिलाफ हम जम्मू कश्मीर में लड़ाई लड़ रहे हैं.’’ 

VIDEO: ओवैसी को सेना का करारा जवाब, शहीदों का कोई धर्म नहीं होता

वहीं जम्मू कश्मीर के उड़ी में नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तान की ओर से हो रही भारी गोलाबारी रविवार शाम थम गई. शनिवार सुबह से उड़ी में पाकिस्तान की ओर से भारी फ़ायरिंग हो रही थी. भारत की ओर से भी इसका मुंहतोड़ जवाब दिया गया. सीमा पार से गोलाबारी के बाद से इलाक़े के लोग दहशत में हैं. सीमा से सटे गांवों को ख़ाली कराया जा रहा है. सेना और पुलिस सैकड़ों लोगों को वहां से निकालकर सुरक्षित जगहों पर ले गई है. 
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement