Khabar logo, NDTV Khabar, NDTV India

जम्‍मू-कश्‍मीर के सीएम मुफ्ती मोहम्‍मद सईद का दिल्‍ली में निधन, पीएम मोदी ने दी श्रद्धांजलि

ईमेल करें
टिप्पणियां
जम्‍मू-कश्‍मीर के सीएम मुफ्ती मोहम्‍मद सईद का दिल्‍ली में निधन, पीएम मोदी ने दी श्रद्धांजलि

फाइल फोटो...

नई दिल्‍ली: जम्मू एवं कश्मीर के मुख्यमंत्री मुफ्ती मुहम्मद सईद का गुरुवार सुबह अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में निधन हो गया। वह पिछले 14 दिनों से यहां भर्ती थे। राजकीय शोक के बीच उनका पार्थिव शरीर श्रीनगर ले जाया गया, जहां उन्हें दफनाया जाएगा। देश के पहले मुस्लिम केंद्रीय गृह मंत्री रह चुके सईद पिछले करीब दो सप्ताह से एम्स में भर्ती थे। उन्होंने यहां सुबह 9.10 बजे अंतिम सांस ली। तीन दिन पहले हालत बिगड़ने पर उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया था।

बुखार के साथ-साथ छाती में संक्रमण के साथ भर्ती किया गया था
अस्पताल के एक प्रवक्ता ने कहा कि मधुमेह से गंभीर रूप से पीड़ित सईद का अस्थि मज्जा (बोन मैरो) के ठीक ढंग से कार्य न करने के कारण निधन हो गया। उन्हें 24 दिसंबर को बुखार के साथ-साथ छाती में संक्रमण के साथ भर्ती किया गया था। पीडीपी के नेता सईद पहली बार साल 2002-05 तक के लिए कांग्रेस गठबंधन की सरकार में मुख्यमंत्री बने थे। दूसरी बार वे बीते साल मार्च में भाजपा गठबंधन की सरकार में मुख्यमंत्री बने, क्योंकि विधानसभा चुनाव के बाद विधानसभा त्रिशंकु हो गई थी।

नमाज-ए-जनाजा में शामिल हुए हजारों लोग
श्रीनगर में गुरुवार को जम्मू एवं कश्मीर के मुख्यमंत्री मुफ्ती मुहम्मद सईद के नमाज-ए-जनाजा में उनकी बेटी महबूबा मुफ्ती सहित हजारों लोगों ने हिस्सा लिया। वीआईपी, सईद के परिजनों व पार्टी कार्यकर्ताओं सहित सात हजार से अधिक लोगों ने शेर-ए-कश्मीर स्टेडियम में शाम को मुख्यमंत्री के नमाज-ए-जनाजा में हिस्सा लिया। पीडीपी के वरिष्ठ नेता नईम अख्तर ने नमाज-ए-जनाजा पढ़ाई, जिसके बाद मुफ्ती का पार्थिव शरीर अनंतनाग जिला स्थित उनके गृहनगर बिजबेहरा ले जाया गया, जहां दफनाने के पहले अंतिम बार नमाज-ए-जनाजा पढ़ा गया।

सुबह करीब साढे़ सात बजे ली अंतिम सांस ली
जम्मू कश्मीर के शिक्षा मंत्री एवं सरकार के प्रवक्ता नईम अख्तर ने बताया कि मुख्यमंत्री ने सुबह करीब साढे़ सात बजे अंतिम सांस ली। सईद के परिवार में उनकी पत्नी, पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती समेत तीन बेटियां और एक बेटा है।
 


महबूबा मुफ्ती को मिल सकती हैं सीएम पद की कमान
मुफ्ती मोहम्‍मद सईद के गुज़र जाने के बाद उनकी बेटी महबूबा मुफ्ती को जम्मू-कश्मीर मुख्यमंत्री पद की कमान मिल सकती है। वो पीडीपी की अध्यक्ष भी हैं। बताया गया है कि सत्ता में पीडीपी की सहयोगी बीजेपी को महबूबा के मुख्यमंत्री बनने पर कोई एतराज़ नहीं है।

पीएम मोदी, गृह मंत्री ने एयरपोर्ट पर दी श्रद्धांजलि
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, मुफ़्ती मोहम्मद सईद को श्रद्धांजलि देने पालम एयरपोर्ट पहुंचे, जहां उनका पार्थिव शरीर था। पीएम के साथ गृहमंत्री राजनाथ सिंह भी मौजूद थे। इस दौरान एयरपोर्ट पर पीडीपी के कई नेता भी मौजूद थे।
 

दो बार रहे जम्‍मू-कश्‍मीर के सीएम, देश के गृह मंत्री भी बने
सईद दो बार जम्‍मू-कश्‍मीर के सीएम रहे। वर्ष 2002 में उन्‍होंने पहली बार जम्मू-कश्मीर के सीएम का पदभार संभाला था। इसके बाद 1 मार्च 2015 को पीडीपी-भाजपा गठबंधन सरकार में वे जम्मू-कश्मीर के 12वें सीएम बने। 1989 से 1990 के बीच सईद देश के गृह मंत्री भी रहे।

पिछले कुछ दिनों से मुख्यमंत्री वेंटीलेटर पर थे
उल्‍लेखनीय है कि सईद को विगत 24 दिसंबर को बुखार और गर्दन में दर्द की शिकायत के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था। एम्स के चिकित्सकों ने उन्हें सेप्सिस, ब्लड काउंट्स में कमी और निमोनिया से पीड़ित पाया था। वह एम्स के सघन चिकित्सा कक्ष में थे और अस्पताल में भर्ती होने के दौरान उनकी प्लेटलेट्स में खतरनाक स्तर तक गिरावट आई थी। पिछले कुछ दिनों से मुख्यमंत्री वेंटीलेटर पर थे।

पीएम मोदी ने जताया शोक
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुफ्ती मोहम्मद सईद के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि उनके न रहने से देश और जम्मू कश्मीर में एक शून्य पैदा हो गया है।
मुफ़्ती मोहम्मद सईद के निधन पर मेरी गहरी संवेदनाएं- राष्‍ट्रपति
राष्‍ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने मुफ्ती मोहम्‍मद सईद के निधन पर शोक जताया है। उन्‍होंने ट्वीट किया, 'जम्मू-कश्मीर के सीएम मुफ़्ती मोहम्मद सईद के निधन पर मेरी गहरी संवेदनाएं। जम्मू-कश्मीर और देश को दी गई उनकी सेवाओं को हमेशा याद रखा जाएगा।'
घाटी में स्थायी शांति चाहते थे सईद जी : राजनाथ सिंह

वहीं, गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने भी ट्वीट किए शोक संदेश में कहा कि सीएम मुफ़्ती मोहम्मद सईद के निधन से गहरा दुख पहुंचा है। उन्हें आम लोगों खास तौर पर कमज़ोर तबके के लिए उनके प्यार के लिए याद किया जाएगा। सईद जी को जम्मू-कश्मीर से जुड़े मसलों की गहरी समझ थी। वो घाटी में स्थायी शांति चाहते थे।
सोनिया गांधी ने किया याद
कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा, "मानवता व सार्वजनिक जीवन में मुफ्ती जी का योगदान सदा स्मरण किया जाएगा।"

मेरी संवेदनाएं मुफ़्ती परिवार के साथ - उमर अब्‍दुल्‍ला
राज्‍य के पूर्व मुख्‍यमंत्री उमर अब्‍दुल्‍ला ने ट्वीट करते हुए सईद के निधन पर गहरा दुख व्‍यक्‍त किया। उन्‍होंने ट्वीट किया, 'मुझे अभी-अभी मुफ़्ती साहब के निधन का दुखद समाचार मिला। उनकी आत्मा को शांति मिले। मेरी संवेदनाएं मुफ़्ती परिवार के साथ हैं। ये परिवार के लिए मुश्किल समय है। मैं और मेरे परिवार की संवेदनाएं उनके साथ हैं।'


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement

 
 

Advertisement