जम्मू-कश्मीर: हिरासत में रह रहे नेताओं के पास से पुलिस ने 11 मोबाइल किए बरामद

जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 के ज्यादातर प्रावधानों को रद्द करने और राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों में विभाजित करने के पांच अगस्त के केंद्र के फैसले के बाद से करीब तीन दर्जन नेताओं को हिरासत में लिया गया है.

जम्मू-कश्मीर: हिरासत में रह रहे नेताओं के पास से पुलिस ने 11 मोबाइल किए बरामद

खुफिया सूचना थी कि एमएलए हॉस्टल में रखे गए लोग मोबाइल फोन का इस्तेमाल कर रहे हैं.

श्रीनगर:

श्रीनगर (Srinagar) में एमएलए हॉस्टल (MLA Hostel) में हिरासत में रखे गए मुख्यधारा के कई नेताओं के पास से 11 मोबाइल फोन बरामद किए गए हैं. पुलिस ने रविवार को यह जानकारी दी. एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि जेल नियमावली के मुताबिक शनिवार शाम तलाशी अभियान चलाया गया. 

यह भी पढ़ें: BJP के पूर्व नेता यशवंत सिन्हा की टीम को श्रीनगर से बाहर घूमने से रोका गया

दरअसल, इस बारे में खुफिया सूचना थी कि एमएलए हॉस्टल में रखे गए लोग मोबाइल फोन का इस्तेमाल कर रहे हैं. इस हॉस्टल को उप-कारागार में तब्दील कर दिया गया है. अधिकारी ने बताया, ''तलाश अभियान के दौरान एमएलए हॉस्टल से 11 मोबाइल फोन बरामद किए गए हैं''. उन्होंने बताया कि इस बारे में जांच जारी है कि ये मोबाइल फोन वहां कैसे पहुंच गए. 

जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 के ज्यादातर प्रावधानों को रद्द करने और राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों में विभाजित करने के पांच अगस्त के केंद्र के फैसले के बाद से करीब तीन दर्जन नेताओं को हिरासत में लिया गया है. इन नेताओं को यहां एम ए रोड के पास एमएलए हॉस्टल में रखा गया है. इन नेताओं को पिछले हफ्ते सेंटूर होटल से यहां लाया गया है क्योंकि कश्मीर घाटी में सर्दियां बढ़ने के चलते वहां सुविधाओं की कमी हो गई थी.

इन कार्यक्रमों के माध्यम से परिषद लोगों को बताएगी कि किस तरह से राम मंदिर के लिए लड़ाई अदालत के अंदर और बाहर लड़ी गई और अयोध्या आंदोलन में इनकी क्या भूमिका रही है.

हिरासत में लिए गए नेताओं के परिजन चिंतित



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com