NDTV Khabar

पाकिस्तान ने जम्मू-कश्मीर के नौशेरा सेक्टर में की फायरिंग, एक महिला की मौत

पाकिस्तान ने फिर संघर्षविराम का उल्लंघन किया है. पाकिस्तान ने राजौरी के पास नौशेरा सेक्टर में फायरिंग की. फायरिंग देर रात से ही जारी है. पाकिस्तान की फायरिंग में एक महिला की मौत हो गई है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पाकिस्तान ने जम्मू-कश्मीर के नौशेरा सेक्टर में की फायरिंग, एक महिला की मौत

पाकिस्तान ने किया संघर्षविराम का उल्लंघन

खास बातें

  1. नौशेरा सेक्टर मे युद्धविराम का उल्लंघन किया
  2. नौशेरा में इस साल सबसे ज्यादा उल्लंघन हुआ
  3. नौशेरा में इस साल 40 बार उल्लंघन हुआ
श्रीनगर:

पाकिस्तान ने जम्मू के नौशेरा सेक्टर मे युद्धविराम का उल्लंघन किया है. देर रात से ही ऑटोमैटिक हथियार 81 एमएम और 120 एमएम मोर्टार से वह फायरिंग कर रहा है. 120 एमएम मोर्टार की रेंज 5 से 6 किलोमीटर है और ये 50 से 100 मीटर एरिया में तबाही मचा सकता है. फायरिंग में एक महिला के मौत हो जाने की भी खबर है. भारतीय सेना भी पाकिस्तान की इस फायरिंग का पूरी मजबूती के साथ माकूल जवाब दे रही है. आपको बता दें कि जो पिछले हफ्ते वीडियो पाक बंकर को बर्बाद करते नजर आया था वह इसी इलाके का था. नौशेरा में इस साल सबसे अधिक युद्धविराम का उल्लंघन हुआ है वह भी करीब 40 दफा से अधिक, जबकि पूरे जम्मू-कश्मीर में करीब 70 बार उल्लंघन हुआ है. इस इलाके की जमीन बहुत उपजाऊ है और काफी खुला है. सामने का इलाका आसानी से दिख सकता है.

बुधवार को जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों ने सेना के एक लेफ्टिनेंट उमर फैयाज का अपहरण कर उनकी हत्या कर दी है. घटना मंगलवार रात को कश्मीर के कुलगाम में हुई. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक हत्या के पहले अधिकारी को बुरी तररह प्रताड़ित किया गया. सूत्रों ने यह भी बताया कि फैयाज के शरीर में घाव के कई निशान मिले हैं. उमर फैयाज का शव शोपियां में मिला था. जम्मू के अखनूर में राजपुताना राइफल्स में तैनात फैयाज दिसंबर 2016 में ही सेना भर्ती हुआ था.  सेना से मिली जानकारी के मुताबिक- 22 साल का फयाज छुट्टी में अपने घर आया था और शादी में शामिल होने के लिए कुलगाम गया हुआ था.


टिप्पणियां

उल्लेखनीय है कि कुछ दिन पहले ही पाकिस्तान द्वारा बनाए गए बूबी ट्रैप में भारतीय सेना और बीएसएफ़ के जवान फंस गए और इसकी वजह से दो जवानों को अपनी जान गवानी पड़ी. यही नहीं पाकिस्तान की सेना ने भारतीय सेना के शहीद हुए जवानों के शवों के साथ बर्बरतापूर्ण व्यवहार किया. बीएसएफ़ ने जो रिपोर्ट मंत्रालय को दी है, उसके मुताबिक़ इनपुट ये मिला था कि कुछ लैंडमाइन एक नाले में पाकिस्तान सेना बिछा रही है. उसकी पुष्टि करने जब जवान गए तब वो बूबी ट्रैप में फंस गए थे.

भारतीय सेना के उत्तरी कमान ने बयान में कहा था कि पाकिस्तान ने कृष्ण घाटी सेक्टर में नियंत्रण रेखा पर दो अग्रिम चौकियों पर बिना उकसावे के रॉकेट और मोर्टार दागे. इसी वक्त बीएटी ने दोनों चौकियों के बीच गश्ती अभियान पर कार्रवाई शुरू की. बयान में कहा गया है, गश्त पर तैनात हमारे दो सैनिकों के शवों को विकृत करके पाकिस्तानी सेना ने सैनिकों जैसे व्यवहार नहीं किया है. अर्धसैनिक बल के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि संघर्ष विराम का उल्लंघन सुबह करीब साढ़े आठ बजे हुआ. हमले में सेना के नायब सूबेदार परमजीत सिंह और सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) की 200वीं बटालियन के एक हेड कांस्टेबल प्रेम सागर की मौत हो गई. अधिकारी ने बताया, सुबह साढ़े आठ बजे पुंछ जिले के कृष्णगाती सेक्टर में नियंत्रण रेखा पर बीएसएफ चौकी पर पाकिस्तानी (सेना) चौकी की ओर से रॉकेट और स्वचालित हथियारों से भारी गोलीबारी की गई.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement