NDTV Khabar

सीताराम येचुरी को श्रीनगर एयरपोर्ट पर हिरासत में लिया गया, उन्हें कहीं भी जाने नहीं दिया जा रहा- CPM

माकपा के महासचिव सीताराम येचुरी और भाकपा के महासचिव डी राजा ने जम्मू कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक को गुरुवार को पत्र लिख कर अपनी यात्रा के बारे में सूचित किया था.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
सीताराम येचुरी को श्रीनगर एयरपोर्ट पर हिरासत में लिया गया, उन्हें कहीं भी जाने नहीं दिया जा रहा- CPM

मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (CPM) के महासचिव सीताराम येचुरी.

नई दिल्ली:

मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (CPM) के महासचिव सीताराम येचुरी और भाकपा के डी राजा को श्रीनगर एयरपोर्ट पर हिरासत में ले लिया गया. वह राज्य के पार्टी इकाई के सदस्यों के परिवारों से मुलाकात करने जम्मू एवं कश्मीर आए थे. आपको बता दें, माकपा के महासचिव सीताराम येचुरी और भाकपा के महासचिव डी राजा ने जम्मू कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक को गुरुवार को पत्र लिख कर अपनी यात्रा के बारे में सूचित किया था. 

सीपीआई(एम) ने ट्वीट शुक्रवार को ट्वीट किया, 'सीताराम येचुरी को श्रीनगर हवाई अड्डे पर हिरासत में रखा गया है और उन्हें कहीं भी नहीं जाने दिया जा रहा. उन्होंने पहले प्रशासन को सूचित किया था कि वह सीपीआईएम विधायक एमवाई तारिगामी से मिलने जाएंगे, जिनकी तबीयत खराब है. इसके अलावा उन्होंने बाकी पार्टी कार्यकर्ताओं से मिलने की भी जानकारी दी थी. हम अवैध रूप से उन्हें हिरासत में लिए जाने का कठोर विरोध करते हैं.'

कश्मीर में आंशिक रूप से बहाल की गई फोन और इंटरनेट सेवा, जुमे की नमाज के लिए दी गई ढील


माकपा और भाकपा की ओर से गुरुवार को जारी बयान के अनुसार येचुरी एवं राजा ने पत्र में राज्यपाल को बताया कि जम्मू कश्मीर में वामदलों की सक्रिय इकाई है. येचुरी ने कहा था कि राज्य की भंग विधानसभा के माकपा विधायक यूसुफ तारीगामी बीमार चल रहे हैं. येचुरी ने राज्यपाल को भेजे पत्र में बताया था कि माकपा के राष्ट्रीय महासचिव होने के नाते वह तारीगामी और पार्टी के अन्य नेताओं से मिलने के लिये नौ अगस्त को श्रीनगर पहुंचेगे.

अमेरिका बोला- कश्मीर पर हमारी नीति में कोई बदलाव नहीं, भारत-पाक शांति और संयम बरतें

दोनों नेताओं ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि पार्टी के नेता के रूप उनकी जिम्मेदारी के निर्वाह में स्थानीय प्रशासन कोई बाधा उत्पन्न नहीं करेगा. गौरतलब है कि गुरुवार को कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री गुलाम नबी आजाद को श्रीनगर हवाईअड्डे पर ही रोक दिया गया. जम्मू कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले संविधान के अनुच्छेद 370 को केन्द्र सरकार द्वारा निष्प्रभावी घोषित किये जाने के बाद कांग्रेस नेता कश्मीर घाटी के हालात का जायजा लेने के लिये वहां पहुंचे थे. 

टिप्पणियां

'किसी भी विपरीत स्थिति से निपटने के लिए सतर्क रहें', नार्दर्न आर्मी कमांडर ने सैनिकों से कहा

VIDEO: कश्मीर घाटी में धारा 144, जुमे की नमाज से पहले सख्त सुरक्षा



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement